Categories
Articles

Netiquttes क्या हैं पूरी जानकारी हिंदी में

स्कूल, कॉलेज, दफ्तर, धर, समाज हर जगह पर व्यवहार करने के नियम तय होते हैं. इन नियमों को शिष्टाचार (Etiquettes) कहा जाता हैं.

ऐसे ही कुछ दिशा-निर्देश इंटरनेट यानि नेटलोक पर भी बनाए गए हैं. जिन्हे Netiquettes मतलब नेटाचार (इंटरनेट आचार) कहते हैं.

इस अध्याय में हम आपको Netiquettes की पूरी जानकारी दें रहे हैं. अध्ययन की सुविधा के लिए हमने इस अध्याय को निम्न भागों में विभाजित किया हैं.


नेटिकेट्स (इंटरनेट शिष्टाचार) क्या हैं – What is Netiquettes in Hindi?

शिष्टाचार समाज में सही और गलत व्यवहार की व्याख्या करते हैं. ठीक इसी प्रकार इंटरनेट पर भी उचित आचरण के लिए कुछ नियमों, दिशा निर्देशों का पालन किया जाता हैं. इन्हे Netiquettes (नेटाचार) कहा जाता हैं.

Netiquette का पूरा नाम (Full Form in Hindi) Net Etiquette अथवा Internet Etiquette होता हैं. यह ऑनलान व्यवहार के नियमों का संकलन हैं और सभी नेटीजन (Netizens) के लिए समान रूप से लागु होता हैं.

इंटरनेट भी हम इंसानों द्वारा बनाया गया हैं. और हम इंसान ही इसका उपयोग करते हैं. इसलिए नेटलोक पर भी अनुशासन बनाए रखना हमारा सामूहिक कर्त्वय बनता हैं.

और हम सबकों वेब फॉर्म, ग्रूप, वेबसाईट कमेंट, सोशल मीडिया पोस्ट, कमेंट, ईमेल आदि पर इन इंटरनेट शिष्टाचार को व्यवहार में लाना चाहिए.

यदि हम इंटरनेट पर भी अनुशासित भाषा, संयमित आचरण और दूसरों के प्रति कृतज्ञता रखते हुए उपयोग करेंगे तो हम एक बेहतर नेटीजन बन सकते हैं. और सभी के लिए एक खुशनुमा इंटरनेट अनुभव सुनिश्चित कर सकते हैं.

Internet Etiquettes Meaning in Hindi

Type of Netiquettes in Hindi?

इंटरनेट पर उचित व्यवहार के कोई आधीकारिक नियम या दिशा-निर्देश नहीं हैं. लेकिन, समय के साथ कुछ सामान्य बातें जरूर अपनाई जा रहीं हैं. जिनका पालन हम सभी को करने की सलाह दी जाती हैं और हमें अपनाना भी चाहिए.

  1. Basics Netiquettes
  2. Sending Netiquettes
  3. Replying Netiquettes
  4. Confidentially Netiquettes

Basic Netiquettes

बेसिक नेटाचार में वे सभी नियम शामिल हैं. जिनका पालन हम इंटरनेट से इतर भी करते हैं.

  1. मदद करें: नये लोगों (Newbie) की मदद करने के लिए हमेशा तैयार रहें. उनके द्वारा भेजे गए Emails, Comments, Questions पर जरूर अपनी उचित प्रतिक्रिया दें. क्योंकि वे अभी नेटलोक में नए है और उन्हे आपकी जरूरत हैं.
  2. संयमित रहें: किसी के बारे में अपशिष्ट शब्द, गाली-गलौच तथा असहनीय बात ना करें. यदि आप उनकी बात से सहमत नही हैं. तो अपनी असहमती दर्शाते समय कठोर शब्दों का उपयोग ना करें. और बहस करने से बचे.
  3. उपलब्ध जानकारी देंख लें: वेब फॉर्म, सवाल-जवाब मेंचतथा नय सोशल मीडिया मंच पर मदद मांगने से पहले  उपलब्ध टिप्पणियाँ जरुर पढें. क्योंकि आपकी समस्या का हल यहाँ मिल सकता हैं.
  4. एक बार गूगल कर लें: किसी से निजी तौर पर सहायता मांगने के लिए ईमेल या मैसेज भेजने से पहले गूगल करना समझदारी होगी.
  5. FAQs पढें: किसी खास उत्पाद, सेवा आदि के बारे कुछ शंका है या कोई सवाल है. तब पहले इस उत्पाद/सेवा से जुडे हुए सामान्य सवाल-जवाब (FAQs) पढ लें. सीधे अपना सवाल ना पूछे क्योंकि आपके मन में आने वाले लगभग सभी सामान्य सवालों के जवाब यहाँ पहले ही दे दिए जाते हैं.
  6. मानक भाषा: इंटरनेट पर आपके शब्द ही आपके बारें में बता रहे होते हैं. इसलिए लिखते समय मानक लिपि का ही उपयोग करें. सही और प्रचलित शब्दों में अपनी बात कहने की कोशिश करें. और व्याकरण संबंधी छोटी-मोटी अशुद्धियों के लिए अपने मैसेज को जरुर जांचले.
  7. सम्मान करें: दुसरे लोगों का सम्मान करें और उन्हे आदर सूचक शब्दों के साथ संबोंधित करना अपना नियम बना लें. जैसे; माननीय, सम्माननीय, श्रीमान, जी, नमस्कार, नमस्तेआदि.
  8. कृतज्ञ बनें: जब आपकी कोई मदद करें तो उन्हे “शुक्रिया” कहना ना भूले. और हो सके तो आप भी उनके लिए एक मदद करने की कोशिश जरूर करें. और अपनी गलती स्वीकार करने में पीठ ना दिखाए. उसे आगे बढकर स्वीकर करें तथा सुधारने के लिए काम करें.
  9. लघुरुप नियम: इंटरनेट पर बात करते समय शब्दों के लघुरूप (Abbreviations) बहुत ज्यादा इस्तेमाल किए जाते हैं. मगर, हर कोई इनके बारे में नही जानता है. इसलिए ज्यादा प्रचलित लघुरूपों को ही अपने संदेश में शामिल करें.नही तो आपका मैसेज नए पाठकों को उलझा सकता हैं. कुछ लोकप्रिय लघुरूप नीचे दिए जा रहे हैं.
    1. BTW – By the way
    1. TTYL – Talk to you later
    1. LOL – Laughing out loud
    1. ROTFL – Rolling on the floor laughing
    1. FWIW – For what it’s worth
    1. POV – Point of view
    1. B/C – Because
    1. AYOR – At your own risk
    1. B4N – Bye for now
    1. DH – Dear husband
    1. DF – Dear friend
    1. EML – Email me later
    1. JK – Just kidding
    1. SFW – Safe for work
    1. OIC – Oh I see
    1. TYVM – Thank you very much
    1. AFAIK – As far as I know
    1. IIRC – If I recall correctly
    1. EOM – End of message
    1. C&P – Copy and paste
    1. HTH – Hope this helps
    1. NNTR – No need to reply
    1. YAM – Yet another meeting
    1. ICYMI – In case you missed it
  10. स्माईली का उपयोग: स्माईली एक मुस्कराता मानवीयचेहरे का स्टाईलिश ग्राफिक हैं. जिसका उपयोग हम भावनाएं दर्शाने के लिए करते हैं. इनका उपयोग भी सीमित मात्रा में ही करें. क्योंकि हर कोई चेहरे पढने में माहिर नही होता हैं. कुछ लोकप्रिय स्माईली और उनका अर्थ:
    1. 🙂 और :-] और :3 और :> – खुशी (Happiness)
    1. 😀 – जीत और ज्यादा खुशी (Victory)
    1. 🙁 और :-C – निराशा, दु:ख (Sadness, Disappointment)
    1. ;-P और ,-) और *-) –चुटकुला और दो अर्थ (Joke, Double Meaning)
    1. 😛 और :-p और :-b – जीभ, चिडाना (Teasing)
    1. :-O और :-() – आश्चर्य (Surprise)
    1. 0:-) – हलो (Hello)
    1. 🙁 – रोना (Tear)
    1. :-I – खाली और नि:शब्द

Sending Netiquettes

ये नेटाचार लेखन से संबंधित हैं. और Emails, Newsgroups, Messages आदि से जुडें हैं. इन्हे मुख्य रूप से Email Etiquettes माना गया हैं. क्योंकि अधिकतर नियम ईमेल के लिए ही बनाए गए है. मगर आप इन्हे किसी भी प्रकार के वेब लेखन पर लागु कर सकते हैं.

  1. छोटा सेंदेश लिखें. अगर आप ज्यादा बडा ईमेल लिखकर लोगों को भेजेंगे तो इसे वे अनदेखा कर देंग़े. इसलिए अपनी बात कम् से कम शब्दों में बयां करें.
  2. व्याकरण संबंधी त्रुटियों से परहेज करें और मानक भाषा में लिखने की कोशिश करें. नहीं तो हिंदी की बिंदी आपको कहीं भी शर्मिदा करा सकती हैं.
  3. संदेश लिखते समय उचित खाली जगह (White Space) रखें. और एक पैराग्राफ से दूसरे पैराग्राफ के बीच कम से कम एक खाली लाईन जरूर दें. ताकि पाठक को सांस लेने का समय मिलता रहें. और उसे आपके मैसेज को पढते समय कोई तकलीफ महसूस नही हो.
  4. URLs को हमेशा नई लाईन में कुछ हाशिया (Indenting) देखर लिखना आपके मैसेज को ज्यादा साफ और पठनीय बना देता हैं.

“शीर्षक” में अपने मैसेज का सारांश बताने का प्रयास करें. ताकि लोग आपके संदेश के बारे में अनुमान लगा सके कि इस संदेश में उनके लिए क्या हैं? इससे उन्हे निर्णय लेने में आसानी रहती हैं. जैसे; “किताब”  और “इतिहास की किताब चाहिए” दोनों में से बाद वाला शीर्षक ज्यादा वर्णात्मक हैं. 

  • विषय के अनुसार ही अपना संदेश तैयार करें. यदि आप मुद्दे से हटके लिखेंगे तो आपकी बात का प्रभाव नही होगा. इसलिए केवल मुद्दे की बात ही करें. ताकि लोग आपका उद्देश्य समझ सके.
  • Email Attachments का आकार कम से कम रखें और उचित फाईल फोरमेट में ही अपना दस्तावेज संलग्न करें.
  • ईमेल के अंत में अपना नाम और हस्ताक्षर जरूर करें.
  • अपनी Business E-mail ID या दफ्तर वाली ईमेल आईडी से कभी भी निजी मैसेज ना भेंजे.
  • आवश्यक लोगों को ही CC और BCC में शामिल करें. अपने सभी Contacts को अंधा-धूंध अपना मैसेज भेजने की नादानी ना करें.

Replying Netiquettes

यह भी ईमेल से संबंधित है. और ईमेल का जवाब देने से संबंधित सही आचरण के बारें में बताते हैं. लेकिन, इन्हे आप वेब फॉर्म, कमेंट, सवाल-जवाब मंच आदि के लिए भी अपना सकते हैं.

  1. केवल जवाब चाहने वाले और आपकी विषय में रुची रखने वालों को ही जवाब दें. क्योंकि सभी लोग आपकी बात सुनने के लिए तैयार नही हैं. और ना ही सुनना चाहते हैं.
  2. बहुत जरुरी होने पर ही दूसरों का मैसेज फॉर्वार्ड करें. अन्यथा बिल्कुल ना करें. यदि आप किसी मैसेज को फॉर्वार्ड करते है तो इसका मतलब है कि आप इस मेल में लिखें विचारों पर अपनी सहमती दें रहे हैं.
  3. यदि कोई जरूरी मेल हैं तो उसे समय से पहले से जवाब देकर आश्वासित कर दें आपको मेल प्राप्त हो चुका हैं. इसे Acknowledgement कहा जाता हैं.
  4. वेब फॉर्म तथा फेसबुक, ट्वीटरतथा नय सोशल मीडिया मंच पर कमेंटों का जवाब देने से पहले अपनी बात को अच्छी तरह से परख लें. और शिष्ट एवं संयमित भाषा में अपना जवाब दें.
  5. किसी के बारे में अपशिष्ट शब्द ना कहें और हास्यात्मक टिप्पणी करते समय भाषाई मर्यादा का ख्याल करें.
  6. यदि आपको किसी व्यक्ति की बात नापसंद हैं, बेकार लग रही हैं या समझ नही आ रही हैं. तो उसका मजाक ना बनाए और उसे Troll करने के लिए अपना कमेंट ना करें.

Privacy Netiquettes

इंटरनेट पर निजता से संबंधित नेटाचार का पालन करना बहुत जरुरी हैं. और अब तो यह कानून भी बन चुका हैं. इसलिए दूसरों की निजता का सम्मान तथा सुरक्षा करना आपकी जिम्मेदारी हैं.

  1. बिना पूछे किसी भी व्यक्ति की Email ID, Photos, Videos या अन्य निजी जानकारी पब्लिक ना करें.
  2. जिस ईमेल को या अन्य प्राप्त जानकारी जिसे आपने जांचा नही हैं. उसे फॉर्वार्ड ना करें.
  3. इंटरनेट पर चोरी करना बहुत आसान है. और आपको इंटरनेट पुलिस भी पकडने नही आ रही हैं. लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप दूसरों की मेहनत का श्रेय अपने आपको देते रहे. जब भी आप किसी की फोटों, विडियों, ग्राफिक, एनिमेशन, ओडियों या शब्द आदि का इस्तेमाल करें तो इसके मालिक को उचित क्रेडिट देना ना भूलें.
  4. कभी भी दूसरें के मैसेज को संपादि ना करें.
  5. अपनी निजता का भी नजर रखें. और एक सीमा तक ही अपनी निजी जानकारी दूसरों के साथ साझा करें.

आपने क्या सीखा?

इस अध्याय में हमने आपको Netiquette यानि नेटाचार के बारे में पूरी जानकारी दी हैं. आपने जाना कि नेटिक्वेट्स क्या होता हैं? इनका पालन कैसे करना चाहिए? हमे उम्मीद है कि आपके लिए ये अध्याय उपयोगी साबित होगा.

और इस अध्याय को अपने दोस्तों के साथ शेयर करके उन्हे भी इंटरनेट शिष्टाचार के बारे में जरूर बताए. तथा हमसे कोई बिंदु छूट गया है तो इसके बारे में हमे कमेंट के माध्यम से अवगत जरूर कराएं.

#BeDigital

लेख आपको पसंद आया?
👍👎

By TP Staff

लेखक: TP Staff

TP Staff, TutorialPandit की कम्प्यूटर और टेक्नोलॉजी पेशेवरों की टीम है, जिसका नेतृत्व जी पी गौतम द्वारा किया जाता है. TutorialPandit के माध्यम से भारत देश में हर साल लाखों लोग फ्री डिजिटल शिक्षा ग्रहण कर रहे है.

5 replies on “Netiquttes क्या हैं पूरी जानकारी हिंदी में”

Netiquettes (Shistachar) ki jaankari ke liye aapko bahut -bahut Dhanyavaad, Netiquettes ke baare main aapne bahut acchi jaankari di hai , Aapke dwara di gayi is Jaankari se mujhe is Netiquettes ke baare main poori jaankari haasil hui hai Is jaankari ke liye Aapko bahut bahut Dhanyavaad.

हिमांशु जी, आपके विचारों के लिए शुक्रिया. इसी तरह सीखते रहिए.

Comments are closed.