Categories
Articles

Hotspot की पूरी जानकारी हिंदी में

आज की इस डिजिटल दुनिया में विश्व स्मार्टफोन पर सिमटता जा रहा है. इंटरनेट लोगों को आपस मे कनेक्ट करने का मुख्य माध्यम बन चुका है.  तथा कम उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट से जोड़े रखने के लिए Hotspot एक महत्वपूर्ण टूल साबित हुआ है.

आपने भी हॉटस्पॉट का नाम जरूर सुना होगा और इस्तेमाल भी कर रहे होंगे?

लेकिन, कभी आपने सोचा है कि यह हॉटस्पॉट क्या होता हैं (Hotspot in Hindi)? यह कैसे काम करता है? यदि आपको इसके बारे में खबर नही है तो कोई बात नही. इस लेसन में हम आपको हॉटस्पॉट की पूरी जानकारी दे रहें. 

What is Hotspot in Hindi Kya Hai
Hotspot क्या हैं?


वाई-फाई हॉटस्पॉट क्या हैं – What is Hotspot in Hindi?

Wi-Fi Hotspot वह भौतिक स्थान होता है, जहाँ एक Hotspot WLAN (Wide Lan Area Network) के माध्यम से इंटरनेट एक्सेस प्रदान करता है. तथा किसी हॉटस्पॉट नेटवर्क में मुख्यतः ‘मॉडेम‘ (Modem) तथा ‘वायरलेस  नेटवर्क‘ नामक दो तत्व मौजूद होते हैं. पब्लिक हॉटस्पॉट आम तौर पर  इंटरनेट एक्सेस प्रदान करने के लिए Configure किये गये WAP (Wireless Access Point) का उपयोग करते हैं.

पब्लिक हॉटस्पॉट का इस्तेमाल ग्राहकों द्वारा विभिन्न दुकानों  ,रेस्तरां (Restaurent), कॉफी शॉप, मेट्रो/रेल्वे स्टेशन आदि अनेक स्थानों पर किया जा सकता है. पूरे विश्व में पब्लिक नेटवर्क की बात करें तो वर्तमान समय में पब्लिक हॉटस्पॉट की संख्या सबसे अधिक यूरोप में है. उसके बाद इन आंकड़ों में उत्तरी अमेरिका तथा एशिया का स्थान आता है. इस बात से हम अंदाजा लगा सकते हैं कि पब्लिक नेटवर्क का दुनिया भर में बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है.

सभी स्मार्टफोन में Hotspot सबसे उपयोगी फ़ीचर्स में से एक होता है. जैसा कि आप जानते ही होंगे Hotspot की मदद से हम एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस को वायरलेस  कनेक्ट कर सकते हैं.

आज इंटरनेट की लोगों तक बढ़ती पहुंच के कारण इंटरनेट उपयोग करना पहले के मुक़ाबले काफी आसान हो गया है. परंतु अब भी कई बार ऐसी स्थिति उत्पन्न होती है जहां हमें किसी स्थान, यात्रा करते समय इंटरनेट की मदद से जरूरी फाइल्स, ईमेल सेंड करना पड़ता है. दुर्भाग्यवश मोबाइल इंटरनेट नही होने के कारण हम ऐसा नहीं कर पाते. इस स्थिति में Wi-Fi Hotspot एक बेहद जरूरी टूल होता है. जिसका इस्तेमाल कर हम एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में इंटरनेट कनेक्शन ऑन कर सकते हैं. आज दुनिया भर में सार्वजनिक हॉटस्पॉट का इस्तेमाल कर करोड़ो उपयोगकर्ता अपने  स्मार्टफोन, कंप्यूटर आदि अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में इंटरनेट कनेक्शन का उपयोग करते हैं.


हॉटस्पॉट के विभिन्न प्रकार – Types of Hotspot in Hindi?

  1. Free Wi-Fi Hotspot
  2. Commercial Hotspot

Free Wi-Fi Hotspot

फ्री वाई-फाई हॉटस्पॉट का उपयोग करने के लिए वाई-फाई राऊटर में पासवर्ड हटा दिया जाता है. तथा यूजर को अपने स्मार्टफोन, कंप्यूटर में इंटरनेट कनेक्शन ऑन करने के लिए किसी वाई-फाई पासवर्ड को एंटर करने की आवश्यकता नहीं होती.

अक्सर विश्वविद्यालय, रेलवे, मेट्रो तथा अन्य पब्लिक स्थानों पर फ्री वाई-फाई हॉटस्पॉट की सुविधा दी होती है. परन्तु फ्री हॉटस्पॉट से अधिक यूज़र्स के डिवाइस कनेक्ट होने की स्तिथि में इंटरनेट कनेक्टिविटी काफी धीमी हो जाती है.

भारत सरकार द्वारा गूगल के सहयोग से रेल्वे स्टेशनों पर जो वाई-फाई इंटरनेट उपलब्ध करवाया जा रहा है. उसे आप फ्री वाई-फाई की श्रेणी में गिन सकते हैं. जिसके बारे में अधिक जानकारी नीचे दिए गए ट्युटोरियल से ले सकते हैं.

इसे पढें: रेल्वे स्टेशन पर फ्री इंटरनेट चलाने का तरीका

Commercial Hotspot

कमर्शियल हॉटस्पॉट्स फ्री वाईफाई हॉटस्पॉट की तुलना में सशुल्क होते हैं. अर्थात इन्हें किराए पर लिया जाता है. जिस वजह से कमर्शियल हॉटस्पॉट का इस्तेमाल सामन्यतः घरों में लोगों द्वारा ब्रॉडबैंड इंटरनेट कनेक्शन के रूप में इस्तेमाल अधिक किया जाता है. 

जिससे इंटरनेट कनेक्शन स्पीड काफी अधिक होती है तथा कीमत अधिक बढ़ने के साथ स्पीड भी कई गुना अधिक हो जाती है.


हॉटस्पॉट उपयोग करने के मुख्य फायदें?

सभी स्मार्टफोन में Hotspot Feature उपलब्ध होता है. संभव है की आप भी अपने स्मार्टफोन में Hotspot का उपयोग करते होंगे. जिससे हम सीमित दायरे में रहकर Wi-Fi Hotspot का इस्तेमाल बिना इंटरनेट फाईल्स को एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में साझा करने के लिए कर सकते हैं.

इसके अलावा Wi-Fi Hotspot का उपयोग करने का मुख्य फायदा यह भी है कि स्मार्टफोन के डेटा कनेक्शन के मुक़ाबले वाई-फाई इंटरनेट का इस्तेमाल करते समय बैटरी कम खर्च होती है. अतः एक बेहतर बैटरी/बैकअप के लिए संभव होने पर आपको वाई-फाई इंटरनेट का ही इस्तेमाल करना चाहिए.

नीचे हॉटस्पॉट को उपयोग करने से मिलने वाले फायदों के बारे में बताया जा रहा हैं.

  • हॉटस्पॉट किसी भी स्मार्टफोन में बेहद उपयोगी फ़ीचर होता है. जिसका इस्तेमाल कर हम विभिन्न स्मार्टफोन को आपस मे कनेक्ट कर इंटरनेट शेयर करने के साथ ही अनेक जरूरी कार्यों को कर सकते हैं.
  • हॉटस्पॉट की मदद से हम मुफ्त में एक स्मार्टफोन से दूसरे स्मार्टफोन को Hotspot के जरिये कनेक्ट कर इंटरनेट उपयोग कर सकते हैं.
  • हॉटस्पॉट के जरिये इंटरनेट का इस्तेमाल इस्तेमाल कॉलिंग के समय भी किया जा सकता है.
  • इंटरनेट कनेक्शन खोये बगैर हम लंबे समय तक Wi-Fi  का इस्तेमाल कर सकते हैं. जिस वजह से ऑफिस में Wi-Fi Hotspot का इस्तेमाल होता है.

इसे एक उदाहरण की सहायता से समझते हैं. यदि आपके मोबाइल में इंटरनेट कनेक्शन मौजूद नहीं है. परन्तु आपके मित्र के स्मार्टफोन में इंटरनेट कनेक्शन मौजूद है. अब इस स्तिथि में आपको अपने स्मार्टफोन में इंटरनेट उपयोग करने के लिए सेटिंग्स से वाई-फाई ऑन करना होगा तथा अपने मित्र के मोबाइल से हॉटस्पॉट फ़ीचर ऑन करना होगा. इस तरह आपका स्मार्टफोन वाई-फाई के जरिये हॉटस्पॉट से कनेक्ट हो जाएगा तथा आपके स्मार्टफोन में इंटरनेट कनेक्ट हो जाएगा.


 अपने स्मार्टफोन को हॉटस्पॉट में कैसे परिवर्तित करें?

आप अपने Android, iPhone, Windows ऑपरेटिंग सिस्टम से जुड़े किसी भी डिवाइस को हॉटस्पॉट में बदल सकते हैं. तथा किसी भी अन्य डिवाइस को हॉटस्पॉट से कनेक्ट करने के बाद दूसरे डिवाइस में हॉटस्पॉट के माध्यम से इंटरनेट एक्सेस किया जा सकता है.

Android Device में हॉटस्पॉट ऑन करने का तरीका

  • सबसे पहले अपने Android स्मार्टफोन की Wi-fi Settings को ओपन कीजिये. तथा More पर क्लिक कीजिये.
  • Portable Wi-Fi Hotspot पर क्लिक कर दीजिए. औऱ इस तरह सफलतापूर्वक आपके एंड्रॉइड स्मार्टफोन में वाई-फाई हॉटस्पॉट ऑन हो जाएगा.

iPhone में हॉटस्पॉट ऑन करने का तरीका

  • अपने iPhone में हॉटस्पॉट ऑन करने के लिए Settings App को ओपन कीजिये.
  • अब Personal Hotspot पर टैप कीजिये.
  • तथा इस तरह आपके iPhone में Hotspot ऑन हो जाएगा.

Hotspot का इतिहास – History of Hotspot in Hindi?

लोकल एरिया नेटवर्क (LAN) का प्रस्ताव पहली बार Henric Sjodin नामक व्यक्तियों द्वारा सेन फ्रंस्सिस्को के मोसकोन सेंटर में वर्ष 1993 में पेश किया गया. हालाँकि उस समय Sjodin द्वारा Hotspot शब्द का उपयोग नहीं किया गया अपितु उस समय हॉटस्पॉट को  सार्वजनिक रूप से उपलब्ध वायरलेस LAN का नाम दिया गया.

पब्लिक लोकल एरिया एक्सेस नेटवर्क बनाने की ओर प्रथम पहल Richerdson नामक स्थान पर पायी गयी एक फर्म द्वारा की गयी. इस फर्म को Plancom के नाम से जाना जाता था. कम्पनी के संस्थापको द्वारा किन्ही कारणों से इस फर्म को भंग कर दिया जिसके बाद Plancom के दो संस्थापको द्वारा Plancom के स्थान पर एक फर्म का निर्माण किया जिसे “मोबाइलस्टार नेटवर्क” का नाम दिया गया. लेकिन वर्ष 2001 में  इस फर्म को Deutsche Telecom नामक दूसरी फर्म को बेच दिया. तथा फर्म का नाम “T-mobile Hotspot” में बदल दिया गया. औऱ उसके बाद Hotspot शब्द को उस स्थान से संदर्भित किया जाने लगा जहाँ “लोकल एरिया नेटवर्क” सार्वजनिक रूप से उपलब्ध था.

ABI शोधकर्ताओं की रिपोर्ट के अनुसार 2012 में विश्वभर में 4.9 मिलियन Wi-Fi Hotspot थे. जबकि 2018 में 10.5 मिलियन हॉटस्पॉट मौजूद थे. और इन्टरनेट उपयोगकर्ताओं की बढती संख्या से यह आंकड़ा बढ़ता जा रहा है.


आपने क्या सीखा?

इस लेसन में हमने आपको हॉटस्पॉट के बारे में पूरी जानकारी दी हैं. आपने जाना कि हॉट्स्पॉट क्या होता हैं? यह कितने प्रकार का होता है? इसका क्या फायदें है? हमे उम्मीद है कि यह लेसन आपके लिए उपयोगी साबित होगा.

#BeDigital

लेख आपको पसंद आया?
👍👎

By TP Staff

लेखक: TP Staff

TP Staff, TutorialPandit की कम्प्यूटर और टेक्नोलॉजी पेशेवरों की टीम है, जिसका नेतृत्व जी पी गौतम द्वारा किया जाता है. TutorialPandit के माध्यम से भारत देश में हर साल लाखों लोग फ्री डिजिटल शिक्षा ग्रहण कर रहे है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *