Categories
Paytm

Paytm का KYC Verify कैसे करे?

Paytm Users के लिए भी KYC (Know Your Customer) Verification कराना अनिवार्य हो गया है. एक Paytm KYC Customer को बहुत फायदें मिलते है. वहीं जिन्होंने Paytm Wallet को Upgrade नहीं किया है. उनको Paytm VIP Customer के विशेष फायदें (Benefits) नहीं मिल पाते है.


यदि आप भी Paytm से ऑनलाइन भुगतान करते है. तो यह KYC Guide आपके लिए ही है. क्योंकि इसमें हम आपको बताएंगे कि Paytm Wallet का KYC Verification कैसे करें? Paytm में आधार कार्ड Link कराने का तरीका क्या है? अपना Paytm KYC Update कैसे करें?

इसके अलावा आप जानेंगे कि KYC Verify कराने के क्या फायदें है? आपको KYC Verification क्यों कराना चाहिए?

इससे पहले कि आप अपना Paytm KYC Verify करें. हम आपको पहले केवाइसी के बारे में बता देते है कि KYC क्या है? KYC Verification क्यों जरूरी है? KYC Verification के लिए आवश्यक दस्तावेज (KYC Documents) कौन-कौनसे है?


KYC क्या है – What is KYC in Hindi?

KYC – Know Your Customer यानि KYC का हिंदी में मतलब “अपने ग्राहक को जानें,” होता है. KYC वित्तिय क्षेत्र में बहुत लोकप्रिय Term है. इसक इस्तेमाल वित्तिय संस्थाएँ (Financial Institutions) अपने ग्राहक की पहचान सत्यापित (Identity Verified) करने के लिए करती है.

दरअसल, बैंक, बीमा कम्पनी आदि संस्थाएँ ग्राहकों को अपनी सेवाएँ देने से पहले उसकी पहचान सत्यापित (Verified) करना चाहती है. इस प्रक्रिया के लिए ये KYC का इस्तेमाल करती है. KYC के द्वारा ये ग्राहक की पहचान (ID Verification) और उसका पता (Address Verification) का सत्यापन करती है.

KYC Verification के लिए भारत सरकार (Indian Government) ने आधार कार्ड को KYC के लिए आवश्यक दस्तावेज मान है. लेकिन, आप PAN Card, DL – Driving License, नरेेेेगा कार्ड (NREGA Card), Voter ID, पासपोर्ट आदि Documents से भी अपना KYC Verification करा सकते है.


Paytm KYC कराने के फायदे.

Paytm Wallet को KYC Verified कराने के बाद आप एक पेटीएम केवाइसी कस्टमर बन जाते है. अर्थात जिसका KYC Verified हो चुका है. आपका पेटीएम से आधार कार्ड लिंक हो जाता है. अब आप Paytm KYC User है ना कि Paytm Non-KYC User. आपको केवाइसी वेरिफिकेशन के निम्न फायदे होते है.

1. आपका Paytm Wallet Upgrade हो जाता है. इसका मतलब अब आप एक माह में ₹ 10,000 से ज्यादा खर्च कर सकते है.

2. आप अपने Paytm Wallet में ₹ 1,00,000 तक रख सकते है. जिसका उपयोग आप Paytm से भुगतान करने के लिए और Online Shopping करने के लिए कर सकते है.

3. आप एक Paytm KYC Customer है, तो आपको Special Offers और Paytm Cashback के ज्यादा मौके मिलते है.

4. आपके लिए Paytm Payments Bank में खाता खोलना आसान हो जाता है.

5. पेटीएम वॉलेट का उपयोग लगातार जारी रहता है. और आप वॉलेट में उपलब्ध सभी सुविधाओं का फायदा लेने के लिए योग्य हो जाते हैं.


Paytm KYC के विभिन्न प्रकार – Paytm KYC Type in Hindi

Paytm ने अपनी सेवाओं की आसान पहुँच को बनाये रखने के लिए तीन प्रकार की KYC अपने ग्राहकों को उपलब्ध करवाई हैं. प्रत्येक KYC के अपने फायदे और सीमा हैं. जिसके बारे में नीचे देख सकते हैं.

  1. Min KYC
  2. Self KYC
  3. Full KYC

विभिन्न प्रकार की KYC के लिए आवश्यक दस्तावेज और उसकी सीमा के बारे में नीचे देख सकते हैं.

Different Type of Paytm KYC and Limitations in Hindi
पेटीएम केवाईसी के विभिन्न प्रकार और फायदें – स्रोत: पेटीएम

मिनिमम केवाइसी क्या है और मिनिमम केवाइसी पूरा कराने के क्या फायदे हैं?

भारतीय रिजर्व बैंक के अनुसार डिजिटल वॉलेट एक प्रीपैड इंस्ट्रूमेंट्स है. जिसे संचालित करने के लिए आरबीआई ने दिशा-निर्देश जारी किए हुए है. इनके अनुसार सभी वॉलेट जारी करने वाले बैंकों को अपने ग्राहकों को जानना जरूरी है. उनकी प्राथमिक पहचान करने के बाद ही उन्हे वॉलेट जारी होने चाहिए.

इसी बात की पालना करते हुए सभी डिजिटल वॉलेट कंपनियाँ अपने ग्राहकों की पहचान सत्यापित करती है.

पेटीएम द्वारा अपने ग्राहकों की पहचान सत्यापित करने के लिए जिस प्रक्रिया का इस्तेमाल होता है उसे मिनिमन केवाइसी कहते है. इसके तहत ग्राहक को पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, नरेगा जॉब कार्ड आदि में दिया गया नाम और युनिक आईडेंटेफिकेशन नम्बर पेटीएम को देना होता है.

मिनिमम केवाइसी सत्यापन पूरा होने के बाद ग्राहक पेटीएम वॉलेट का इस्तेमाल रोजमर्रा के डिजिटल कामों को पूरा करने के योग्य हो जाता है. और इसे पेटीएम वॉलेट के निम्न लाभ मिलने लगते है.

  • पेटीएम से दुकानदारों को भुगतान कर सकता है.
  • ऑनलाइन शॉपिन करने पर भुगतान कर सकते है.
  • पेटीएम वॉलेट में 10,000 रुपये तक बैलेंस रख सकते है.

लेकिन, इन लाभों के अलावा आप बहुत सारी अन्य सुविधाओं से वंचित रह जाते है. मसलन,

  • आप अपने दोस्त को पैसे ट्रांसफर नहीं कर पाएंगे.
  • बैंक में पैसे ट्रांसफर नहीं कर सकते है.
  • पेटीएम में 1,00,000 रुपये तक का बैलेंस नहीं रख सकते है.
  • आप पेटीएम पेमेंट बैंक में सेविंग्स अकाउंट नहीं खोल सकते है.

अब आपने विभिन्न प्रकार की Minimum KYC के बारे में तो जान लिया हैं. और इसके फायदे और नुकसान के बारे में भी जान लिया हैं. आइये अब Minimum KYC Verification का तरीका क्या है? उसे भी जान लेते हैं.


1. Min KYC करने का तरीका

  • सबसे पहले अपना Paytm App को Download करके Open कीजिए. और KYC Icon पर टैप कीजिए.
  • सामने दिख रही IDs से अपनी ID Select कीजिए. मतलब आप कौनसी ID से KYC करान चाहते हैं.
  • अब ID Number और ID में जो आपका नाम है उसे लिखिए.
  • आपने जो जानकारी लिखि हैं उसे Confirm करने के लिए Check Mark कीजिए. और Submit कर दीजिए.
  • Congratulation! आपने सफलतापूर्वक Self KYC Verification कर लिया हैं.

ध्यान दें

आरबीआई के दिशा-निर्देशों के अनुसार मिनिमम केवाइसी केवल 18 महिनों के लिए ही मान्य है. इसके बाद आप वॉलेट का उपयोग नहीं कर सकते है. आगे वॉलेट का उपयोग करने के लिए आपको Paytm Full KYC Verification कराना होगा. जिसके बारे में आगे बताया गया है.

यदि मैं मिनिमम केवाइसी पूरा नहीं करता हूँ तो क्या होगा?

आपको बता चुके है कि पेटीएम वॉलेट का उपयोग करने के लिए अपनी पहचान सत्यापित कराना आवश्यक है. जिसके लिए पेटीएम मिनिमम केवाइसी वेरीफिकेशन कराना पड़ता है. यदि आप इस प्रक्रिया को समय रहते पूरा नहीं करेंग़े तो वॉलेट का उपयोग नहीं कर पाएंगे.

लेकिन, किसी कारणवश आप पेटीएम मिनिमम केवाइसी वेरिफिकेशन कराने में असमर्थ होते है. तो इस स्थिति में भी UPI Money Transfer के लिए पेटीएम का उपयोग कर पाएंगे. साथ में क्रेडिट/डेबिट तथा नेट बैंकिंग के जरिए ऑनलाइन खरीदारी करने मे समर्थ होंगे.

मैं कैसे जान सकता हूँ कि मेरी मिनिमम केवाइसी पूरा है?

यदि आपकी मिनिमम केवाइसी पूरा करा लिया है, तो पेटीएम एप पर सबसे ऊपर होमपेज पर KYC Icon दिखाई देगा. इस आइकन पर क्लिक अथवा टैप करके आप मिनिमम केवाइसी की समयसीमा भी जान सकते है.


2. Self KYC और Aadhaar-Based KYC कराने का तरीका

  • Paytm App को Open कीजिए. और KYC Icon पर क्लिक कीजिए.
  • अपना आधार नम्बर लिखिए.
  • आपके Registered Mobile Number पर प्राप्त OTP को लिखिए.
  • पहचान को Confirm कीजिए.
  • इसके बाद अपनी जानकारी भरीए. और Submit कर दीजिए.
  • Congratulation! आपने Aadhaar Based KYC सफलतापूर्वक कर ली है.

ध्यान दें:- इस केवाइसी को अब मिनिमम केवाइसी के साथ जोड़ दिया गया है.


Paytm Full KYC क्या है और इसे कराने के क्या फायदें हैं?

खुद जाकर अपनी पहचान सत्यापित करवाना ही फुल केवाइसी कहलाता है. इस दौरान ग्राहक स्वयं पेटीएम एजेंट के पास जाकर आधार कार्ड, पैन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र आदि दस्तावेजों से अपनी पहचान सत्यापित करवाता है. और ओटीपी तथा फोटोग्राफ के द्वारा प्रमाणिकरण साबित करता है.

फुल केवाइसी कराने पर आप Paytm KYC Customer बन जाते है. और आपको वॉलेट की सभी सुविधाओं की एक्सेस मिल जाती है. जिसके तहत आपको निम्न फायदें और मिलते हैं.

  • वॉलेट में पैसे रखने की सीमा 10,000 से बढ़कर 1 लाख रुपये तक अपग्रेड हो जाती है.
  • वॉलेट द्वारा खर्च करने की सीमा समाप्त हो जाती है.
  • आप पेटीएम से अन्य वॉलेट या बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करने के योग्य हो जाते है.
  • पेटीएम पेमेंट्स बैंक में बचत खाता खुलवा सकते है.

मैं फुल केवाइसी कैसे करा सकता हूँ?

फुल केवाइसी कराने के लिए पेटीएम द्वारा ग्राहकों की सुविधानुसार व्यवस्था की है. जिसके अनुसार आप कई तरीकों से पेटीएम फुल केवाइसी करा सकते है. नीचे फुल केवाइसी कराने के सभी तरीकों के बारे में बताया गया है.

Full Paytm KYC Verify करवाने का तरीका

भारत की सुप्रीम कोर्ट के नए आदेश के बाद Aadhaar-Based KYC प्रक्रिया को बंद कर दिया गया हैं. और इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था की गई हैं. आप नीचे बताए गए स्टेप्स को फॉलो करके Paytm Full KYC Complete करा सकते हैं.

Step: #1

सबसे पहले पेटीएम एप में जाकर अपना नजदीकि केवाइसी सेंटर का पता करें. इसकी जानकारी आप पेटीएम एप में हि लें सकते है. जैसे ही आप Nearby KYC पर टैप करेंगे तो आपकी लोकेशन के आधार नजदीकि केवाइसी सेंटर की सूची आपके सामने फोन नम्बर तथा पूरा पता के साथ खुल जाएगी. अब आप जिस सेंटर से केवाइसी कराना चाहते है उससे संपर्क करें. सहायता के लिए स्क्रीनशॉट को देखीए.

Find Nearby KYC Center of Paytm
अपना नजदीकि केवाइसी सेंटर का पता लगाईये

यदि आप पिन कोड के माध्यम से Nearby KYC Center ढूँढ़ना चाहते है तो नीचे बने बटन पर क्लिक करें.

Step: #2

केवाइसी सेंटर मालूम करने के बाद कोई भी Government-Approved ID Proof लेकर यहाँ जाएं.

Government-Approved IDs

  • Voter ID
  • Driving Licence
  • Passport
  • NREGA Job Card

Step: #3

केवाइसी सेंटर पहुँचने के बाद ऑथोराइज एजेंट से अपनी केवाइसी अपग्रेड करने के लिए कहें और कुछ ही देर में एजेंट केवाइसी प्रक्रिया शुरु कर देगा. इस दौरान वह आपकी ID Proof का फोटों खींचेगा. इसके अलावा आपका पता, माता-पिता की जानकारी भी पूछेगा. तो इस कार्य में आप एजेंट का सहयोग करें.

Step: #4

ये सब प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपके मोबाइल नम्बर पर एक OTP आएगा. आप इसे एजेंट के साथ शेयर करके अपना Confirmation दें. और बस हो गया. कुछ ही समय के अंदर आपकी केवाइसी अपडेट हो जाएगी.

मैं घर पर पेटीएम केवाइसी वेरीफाई कैसे कराउँ? क्या यह संभव है?

जी हाँ. आप घर बैठकर ही फुल पेटीएम केवाइसी वेरीफाई करा सकते है. मगर इसके लिए आप पेटीएम के सर्विस एरिया के दायरे में होने चाहिए. क्योंकि यह सुविधा पूरे भारत में न होकर केवल चुनिंदा राज्यों के कुछ ही शहरों में उपलब्ध करवाई जा रही है.

मैंने सुना है कि फुल केवाiसी के लिए पैन कार्ड भी मांगा जाता है. क्या ये सच है?

यदि आपके पास पैन कार्ड नहीं है तो आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं है. क्योंकि आप बिना पैन कार्ड पेटीएम केवाइसी वेरीफाई करा सकते है. इसके लिए पेटीएम एजेंट आपसे फॉर्म 60 की घोषणा कराता है. जो आपको भरकर देना होगा.

पेटीएम केवाइसी की फीस कितनी है?

पेटीएम केवाइसी बिल्कुल मुफ्त है. इसलिए आपको मांगने पर भी पैसा नहीं देना है. अगर, कोई पेटीएम एजेंट आपसे केवाइसी के बदले पैसे की मांग करें तो इसकी शिकायत आप पेटीएम से जरूर करें.

केवाइसी वेरीफिकेशन को पूरा होने में कितना समय लगता है?

केवाइसी वेरीफिकेशन का कार्य सत्यापन होने के बाद 2 से 3 दिन में केवाइसी अपडेट हो जाती है.

पूर्ण केवाइसी के लिए किन्हे योग्य माना गया है?

पेटीएम के अनुसार कोई भी भारतीय नागरिक (विदेशी और नाबालिग को छोड़कर) जिसकी उम्र 18 वर्ष पूर्ण हो चुकी है. वह केवाइसी के लिए योग्य माना गया है.

मैं कैसे जान सकता हूँ कि मेरी पूर्ण केवाइसी हो चुकी है?

यदि आपकी पूर्ण केवाइसी हो चुकी है तो आप पेटीएम अकाउंट में लॉग़ इन करने पर अपनी प्रोफाइल फोटो के आगे नीला निशान लगा हुआ पाएंगे. यदि यह नीला चैक मार्क मिलता है तो आपकी पुर्ण केवाइसी हो चुकी है.

Paytm KYC Verified Profile Showing Blue Badge in Profile

केवाइसी सहायता के लिए ये वीडियो देखिए.


आपने क्या सीखा?

इस Paytm KYC Guide में हमने आपको बताया कि Paytm KYC Verification कराने का तरीका क्या है? पेटीएम केवाइसी वेरिफिकेशन कराने के क्या फायदे है? Paytm Wallet को Upgrade कैसे करें?

हमे उम्मीद है कि यह केवाइसी गाइड आपके लिए उपयोगी साबित होगी. यदि आपके मन में Paytm KYC Verification से संबंधित कोई भी सवाल है तो आप हमे Comment के माध्यम से बता सकते है.

#BeDigital

लेख आपको पसंद आया?
👍👎

By TP Staff

लेखक: TP Staff

TP Staff, TutorialPandit की कम्प्यूटर और टेक्नोलॉजी पेशेवरों की टीम है, जिसका नेतृत्व जी पी गौतम द्वारा किया जाता है. TutorialPandit के माध्यम से भारत देश में हर साल लाखों लोग फ्री डिजिटल शिक्षा ग्रहण कर रहे है.

756 replies on “Paytm का KYC Verify कैसे करे?”

Sir mera paytm wallet open nhi ho RHA h , or kyc karta hu to tyc ok dika rha h lekin kyc mere adharcard number nhi h or name h mera wallet 1 month se nhi chl RHA pls sir help

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *