Categories
Computer

कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर क्या होता है हिंदी में जानकारी

आप इस लेख को एक Software पर ही पढ़ रहे है. जी हाँ, एक Software पर आपने सही पढा. जिसका नाम हैं वेब ब्राउजर.

दरअसल, Computer अपना कार्य अकेला नही कर सकता है. Computer को अपना कार्य करने के लिए कुछ सहायक उपकरणों तथा प्रोंग्राम्स की जरूरत होती है. ये उपकरण तथा प्रोंग्राम्स ही Computer को कार्य करने लायक बनाते है.

कम्प्यूटर पर किसी विशेष कार्य को करने के लिए सॉफ्टवेयर की जरूरत पड़ती है. इस लेख में हम आपको कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर क्या होता है तथा सॉफ्टवेयर का महत्व आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दें रहे है.

आपकी सहुलियत के लिए इस लेख को निम्न भागों में बांट दिया है. आप टॉपिक अनुसार सॉफ्टवेयर के बारे में समझ पाएंगे.


सॉफ्टवेयर क्या होता हैं – What is Software in Hindi?

सॉफ्टवेयर, निर्देशों तथा प्रोग्राम्स का वह समूह है जो कम्प्यूटर को किसी कार्य विशेष को पूरा करने का निर्देश देता हैं. यह यूजर को कम्प्यूटर पर काम करने की क्षमता प्रदान करता हैं. सॉफ्टवेयर के बिना कम्प्यूटर हार्डवेयर का एक निर्जीव बक्सा मात्र हैं.

Software को आप अपनी आंखों से नही देख सकते हैं. और ना ही इसे हाथ से छूआ जा सकता हैं. क्योंकि इसका कोई भौतिक अस्तित्व नहीं होता हैं. यह एक आभासी वस्तु हैं जिसे केवल समझा जा सकता हैं.

What is Software in Hindi?
सॉफ्टवेयर क्या होता है?

यदि आपके कम्प्युटर में सॉफ्टवेयर नहीं होगा तो आपका कम्प्युटर मृत प्राणी के समान होगा. जो केवल लौह और अन्य धातुओं से बना एक बक्सा मात्र रह जाएगा.

सोचिए,अगर आपके कम्प्यूटर में ब्राउजर प्रोग्राम नही होता तो आप इस लेख को नही पढ़ सकते थे. इसी बात से आप सॉफ्टवेयर का महत्व का अंदाजा लगा सकते है.

इसके अलावा MS Office, Photoshop, Adobe Reader, Picasa आदि सभी विभिन्न प्रकार के Software है, जो आपको Computer पर अलग-अलग कार्य करने के योग्य बनाते है.

सॉफ्टवेयर आपके कम्प्यूटर में जान फूँकता हैं. उसे काम करने के योग्य बनाता हैं. और सॉफ्टवेयर की मदद से ही आप कम्प्यूटर से अपना मन पसंद कार्य करवा पाते हैं.

इन्हे भी पढें:

  1. Hardware क्या होता है?
  2. Computer में सॉफ्टवेयर इंसटॉल करने का तरीका

सॉफ्टवेयर के विभिन्न प्रकार – Types of Software in Hindi

हम कम्प्यूटर का उपयोग विभिन्न कामों के लिए के लिए करते हैं. और ये सभी प्रकार के काम केवल एक सॉफ्टवेयर की मदद से पूरे नही किये जा सकते हैं.

इसलिए काम की जरुरत के हिसाब से अलग-अलग सॉफ्टवेयर बनाये जाते हैं. अध्ययन की सुविधा के लिए सॉफ्टवेयर के दो मुख्य वर्ग बनाए हैं.

  1. System Software
  2. Application Software

1. System Software

System Software वह Software है जो Hardware का प्रबंध एवं नियत्रंण करता है और Hardware एवं Software के बीच क्रिया करने देता है. System Software के कई प्रकार है.

1.1 Operating System

Operating System एक ऐसा कम्प्यूटर प्रोग्राम होता है जो अन्य कम्प्यूटर प्रोग्रामों का संचालन करता है. ऑपरेटिंग सिस्टम यूजर तथा कम्प्यूटर के बीच मध्यस्थ का कार्य करता है. यह हमारे निर्देशो को कम्प्यूटर को समझाता है.

ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ लोकप्रिय नाम जिनके बारे में आपने जरुर सुना होगा.

  • Windows OS
  • Mac OS
  • Linux
  • UBUNTU
  • Android

ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में और जाने

1.2 Utility Programs

Utilities को सर्विस प्रोग्राम के नाम से भी जाना जाता है. यह कम्प्यूटर संसाधनों के प्रबंधन तथा सुरक्षा का कार्य करते है. लेकिन, इनका Hardware से सीधा संम्पर्क नही होता है. जैसे, Disk Defragmenter, Anti Virus प्रोग्राम आदि Utility प्रोग्राम है.

यूटिलिटी प्रोग्राम के बारे में और अधिक जानने के लिए आप हमारे युटिलिटी सॉफ्टवेयर क्या होता है? इस लेख को पढ़ना ना भूले.

इसे पढ़ेयूटिलिटी प्रोग्राम्स क्या होते है?

1.3 Device Drivers

Driver एक विशेष प्रोग्राम होता है जो इनपुट और आउटपुट उपकरणों को कम्प्यूटर से जोड़ता है ताकि ये कम्प्यूटर से संचार कर सके. जैसे Audio Drivers, Graphic Drivers, Motherboard Drivers आदि.

2. Application Software

Application Software को End User सॉफ़्टवेयर कहा जा सकता है, क्योंकि इसका सीधा संबंध यूजर से होता है. इसे ‘Apps’ भी कहते है. Application Software उपयोक्ता को किसी विशेष कार्य को करने कि आजादी देते है. इनके कई प्रकार है.

2.1 Basic Application

Basic Applications को सामान्य उद्देशीय सॉफ़्टवेयर (General Purpose Software) भी कहा जाता है. यह सामान्य इस्तेमाल के सॉफ़्टवेयर होते है. इनका उपयोग हम रोजमर्रा के कार्यों के लिए करते है.

किसी भी कम्प्यूटर उपयोक्ता को कम्प्यूटर पर कार्य करने के लिए Basic Application का इस्तेमाल तो आना ही चाहिए. नीचे कुछ General Purpose Software के नाम दिए जा रहे हैं.

2.2 Specialized Application

Specialized Application को विशेष उद्देशीय सॉफ़्टवेयर (Special Purpose Software) भी कहा जाता हैं. इन सॉफ़्टवेयर को किसी खास उद्देश्य के लिए बनाया जाता है. इनका इस्तेमाल भी किसी कार्य विशेष को करने के लिए होता है. नीचे कुछ विशेष उद्देश्य के लिए बनाये गए प्रोग्राम्स के नाम दिए जा रहे हैं.

  • Accounting Software
  • Billing Software
  • Report Card Generator
  • Reservation System
  • Payroll Management System

सॉफ्टवेयर कैसे बनाते हैं – How to Create a Computer Program in Hindi?

कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर बनाना थोडा-सा कठिन कार्य हैं. क्योंकि इस कार्य को करने के लिए आपके पास जरूरी Programming Languages की अच्छी जानकारी और बहुत सारा धैर्य होना जरूरी हैं. तभी आप एक पेशेवर सॉफ़्टवेयर डवलपर बन सकते हैं.

सॉफ्टवेयर बनाने के लिए दर्जनों प्रोग्रामिंग भाषाओं का विकास किया गया हैं. जिनके द्वारा आप अलग-अलग जरुरत के लिए सॉफ्टवेयर बना सकते हैं.

आप सभी भाषाओं के विशेषज्ञ तो नही बन सकते हैं. असंभव नही हैं. आप सीख सकते हैं. मगर शुरुआत के लिए आप Java, C, C++ बुनियादि भाषाओं को सीखकर कर सकते हैं. और Computer Coding में अपना हाथ आजमा सकते हैं.


एक सामान्य डेस्कटॉप में इस्तेमाल होने वाले कुछ सॉफ्टवेयर का नाम तथा उनका काम

सभी यूजर्स अलग-अलग उद्देश्य के लिए कम्प्यूटर का उपयोग करते है. इसी उपयोग के आधार पर उनके सॉफ़्टवेयर भी बदल जाते हैं.

लेकिन, कुछ सॉफ्टवेयर ऐसे होते है जो लगभग हर कम्प्यूटर में इंस्टॉल होते है. इनके बिना किसी का भी काम नही चल सकता है. इसलिए, इस टेबल को ध्यान पूर्वक देखे और पता लगाएं आपके कम्प्यूटर में कौनसा सॉफ्टवेयर नहीं है?

सॉफ्टवेयर का नामसॉफ्टवेयर का कामसॉफ्टवेयर का प्रकार
AVG, McAfee, Nortonकम्प्यूटर की सुरक्षाएंटीवायरस प्रोग्राम
VLC, Windows Music Playerआवाज सुनानासाउंड प्रोग्राम्स
Computer Driversहार्डवेयर कम्युनिकेशनयूटिलिटी
Gmail, Outlook, Thunderbirdईमेलसंचार
Chrome, Firefox, Edgeइंटरने ब्राउजिंगवेब ब्राउजर
Paint, Photoshopग्राफिक संभालनाग्राफिक सॉफ्टवेयर
Word, Notepad, WordPadविभिन्न डॉक्युमेंट्स बनानावर्ड एडिटर
MS Excelस्प्रेडशीट्स बनानास्प्रेडशीट प्रोग्राम
Presentationप्रेजेंटेशन, स्लाइड्स बनानाप्रेजेंटेशन प्रोग्राम

कम्प्यूटॅर सॉफ़्टवेयर से संबंधित कुछ सामान्य सवाल-जवाब

सवाल – कम्प्यूटर सॉफ़्टवेयर कहां मिलते है?

जवाब – आप अपने कम्प्यूटर के लिए विभिन्न सॉफ़्टवेयर ऑनलाइन तथा ऑफलाइन खरिद सकते है. इन्हे Applications Service Providers उपलब्ध करवाते हैं.

इंटरनेट से सॉफ़्टवेयर डाउनलोड करने के लिए आपको सॉफ़्टवेयर विक्रेता की वेबसाइट पर जाना पड़ता है. फिर उस वेबसाइट पर आपको सॉफ़्टवेयर डाउनलोड लिंक मिलती है. इस लिंक के जरिए आप सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर सकते है.

यदि आप किसी बाजार से सॉफ़्टवेयर खरिदना चाहते है तब आपको सॉफ्टवेयर सीडी/डीवीडि आदि माध्यमों में उपलब्ध करवाया जाता है. फिर इस सीडी/डीवीडी को चलाकर सॉफ्टवेयर इंस्टॉल किया जाता है.

इसे पढ़े – कम्प्यूटर में सॉफ़्टवेयर कैसे इंस्टॉल करते हैं?

सवाल – क्या मैं फ्री सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर सकता हूँ?

जवाब – इसका जवाब जानने के लिए आप पहले “internet se free software kaise download kare” इस लाइन को गूगल पर जाकर सर्च करके देखिए. आपके सामने सैंकड़ों वेबसाइट आ जाएगी. जहां से आप फ्री सॉफ़्टवेयर डाउनलोड कर पाएंगे.

सवाल – मैंने सुना है कि फ्री सॉफ्टवेयर खतरनाक होते है क्या ये सच है?

जवाब – क्या आपने कभी सोचा है जब सॉफ्टवेयर फ्री में ही मिल जाते है तो हमें सॉफ्टवेयर क्यों खरिदने चाहिए? या सॉफ्टवेयर का पैड वर्जन ही क्यों इस्तेमाल करना चाहिए?

इसका जवाब होगा सुरक्षा, फीचर्स, सपोर्ट और गुणवत्ता. ये सभी चीजे आपको फ्री सॉफ़्टवेयर में नहीं मिलती है. और आपको हैकर्स के हवाले भी कर सकते है.

इसलिए, आप फ्री सॉफ्टवेयर केवल विश्वसनीय और सुरक्षित स्थान (सॉफ्टवेयर स्टोर जैसे विंडॉज एप स्टोर) से ही डाउनलोड करें. किसी भी इंटरनेट वेबसाइट से फ्री सॉफ्टवेयर डाउनलोड करने की गलती गलती से भी ना करें.

सवाल – सॉफ्टवेयर लाइसेंस क्या होता है?

जवाब – सॉफ्टवेयर उपयोग, सेवा-शर्ते तथा यूजर अनुबंध का लिखित दस्तावेज सॉफ्टवेयर लाइसेंस कहलाता है. इस लाइसेंस में यूजर तथा सॉफ्टवेयर निर्माता के बीच अनुबंध की शर्ते लिखी जाती है. इन्ही शर्तों के भीतर ही एक यूजर किसी सॉफ्टवेयर विशेष का उपयोग कर सकता है.

सॉफ्टवेयर लाइसेंस कई प्रकार का होता है:

  • Free License – फ्री लाइसेंस के तहत पूरा सॉफ्टवेयर फ्री इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स के लिए उपलब्ध करवाया जाता है. इस लाइसेंस के लिए किसी भी प्रकार कोई शुल्क नहीं लिया जाता है. यूजर्स के निजी उपयोग के लिए इस प्रकार के सॉफ्टवेयर लाइसेंस उपलब्ध होते है. कुछ में कमर्शियल इस्तेमाल की छूट भी होती है. यूजर्स इसके कोड को एक्सेस नहीं कर पाते हैं.
  • Proprietary License – यह लाइसेंस पैड होता है. मतलब, इसके लिए आपको कुछ फीस चुकानी पड़ती है. यह फीस वन टाइम भी हो सकती है और रेकरिंग यानि सब्सक्रिप्शन आधारित भी हो सकती है. इस लाइसेंस के तहत पूरा सॉफ्टवेयर फुल फीचर्स के साथ यूजर्स के लिए उपलब्ध रहता है. लेकिन, सोर्स कोड एक्सेस की इजाजत नहीं होती.  
  • Open Source – यह लाइसेंस सार्वजनिक होता है और सभी के लिए मुफ्त एक्सेस देता है. सॉफ्टवेयर के साथ-साथ सोर्स कोड भी एक्सेस करने की अनुमती होती है. यानि आप इस तरह के प्रोग्राम्स को अपनी जरुरतों के अनुसार बदल भी सकते है.

सवाल – किसी भी सॉफ्टवेयर का उपयोग कैसे करें?

  • स्टेप: #1 – स्टार्ट मेनु में जाएं
  • स्टेप: #2 – इस्तेमाल के लिए सॉफ्टवेयर ढूँढ़े
  • स्टेप: #3 – अब इस सॉफ्टवेयर को ओपन करें
  • स्टेप: #4 – सॉफ्टवेयर ओपन होने के बाद इस्तेमाल करें  

किसी भी सॉफ़्टवेयर का सही ढ़ंग से इस्तेमाल करने के लिए इसका प्रशिक्षण लेना चाहिए. अगर, प्रशिक्षण की सुविधा नहीं है तो सॉफ्टवेयर के साथ आए उसके मैन्युल तथा हेल्प सेंटर से मदद लें.

सवाल – सॉफ्टवेयर का रखरखाव कैसे करते है?

जवाब – यह सवाल बहुत ही काम का है. और कम्प्यूटर सुरक्षा से जुड़ा है. इसलिए, इसे ध्यान से पढ़े और समझने का प्रयास करें.

सॉफ्टवेयर का रखरखाव में सोर्स कोड, उसकी फंक्शनेलिटी, नई अपडेट, हैकर्स से बचाव, एरर फिक्शिंग आदि को शामिल किया जा सकता है.

इन सबसे बचने के लिए आप निम्न उपाय कर सकते है:

  • सॉफ्टवेयर केवल विश्वसनीय स्रोत से ही प्राप्त करें
  • नई अपडेट आते ही उसे अपडेट करें
  • कम्प्यूटर में एंटीवायरस प्रोग्राम इंस्टॉल करके रखें
  • किसी भी प्रकार की एरर आने पर हेल्प सेंटर को सुचित करें
  • सॉफ्टवेयर के साथ प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुसार ही सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करें

आपने क्या सीखा?

इस लेख में हमने आपको Software क्या होता है? Computer Software के विभिन्न प्रकार और उनके नाम आदि की पूरी जानकारी दी हैं. 

हमे उम्मीद है कि यह लेख आपको पसंद आएगा और आपके लिए उपयोगी साबित होगा. यदि आपको सॉफ्टवेयर के बारे में कुछ भी समझ ना आए तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है.

#BeDigital

— इससे संबंधित और Tutorials–

लेख आपको पसंद आया?
👍👎

By TP Staff

लेखक: TP Staff

TP Staff, TutorialPandit की कम्प्यूटर और टेक्नोलॉजी पेशेवरों की टीम है, जिसका नेतृत्व जी पी गौतम द्वारा किया जाता है. TutorialPandit के माध्यम से भारत देश में हर साल लाखों लोग फ्री डिजिटल शिक्षा ग्रहण कर रहे है.

21 replies on “कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर क्या होता है हिंदी में जानकारी”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *