Categories
Articles Career

स्टुडेंट्स के लिए ये है 12 Best Computer Courses जो दिलाएंगे हाथोहाथ जॉब

आज से 15 साल पहले की बात करें तो कम्प्युटर एक विलासिता की वस्तु थी. मगर, समय के साथ यह हमारे दैनिक जीवन की वस्तु बन चुका है.

ऐसा कोई भी क्षेत्र नही बचा है जहाँ पर कम्प्युटर का उपयोग नही हो रहा है.

बिजली का बिल जमा कराना हो, टिकट बुक करनी हो, इनकम टैक्स रिटर्न जमा करना हो या फिर पेंशन के लिए आवेदन करना हो. रोजमर्रा के कार्य इसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस से किये जा रहे है.

इसलिए शैक्षिक डिग्रीयों को छोड़कर कम्प्युटर कोर्स करने का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है. और ये होना लाजमी है. क्योंकि, हम पढ़ते ही नौकरी के लिए है.

यदि आप भी कम्प्युटर में करियर बनाने के बारे में सोच रहे है तो यह आर्टिकल आपके लिए ही लिखा गया है. क्योंकि, इस आर्टिकल में मैं आपको बेस्ट कम्प्युटर कोर्स (Best Computer Courses in Hindi) के बारे में जानकारी दे रहा हूँ. ताकि आपको कम्प्युटर क्षेत्र में करियर बनाने में आसानी रहे.

कम्प्युटर कोर्स क्यों करने चाहिए – Why Choose Computer Courses?

भारत एक विकासशील देश है. जहाँ पर नई टेक्नोलोजी, नए ज्ञान, नए हुनर की आवश्यकता हमेशा रहने वाली है. इसलिए, शैक्षिक डिग्री के साथ-साथ कम्प्युटर कोर्स करना समझदारी युक्त निवेश है. जिसका रिटर्न आपको मोटा लाभ ही देगा.

कम्प्युटर कोर्स करने के मैं छह महत्वपूर्ण कारण बता रहा हूँ. ताकि आप खुद फैंसला कर सको कि मुझे कम्प्युटर कोर्स क्यों करने चाहिए?

#1 आज की जरूरत

कम्प्युटर भविष्य की टेक्नोलोजी है. मगर, आज की नींव पर ही इसका निर्माण होगा. इसलिए, कम्प्युटर और इससे संबंधित टेक्नोलोजी की मांग दिन पे दिन बढ़ती ही जा रही है.

डिफेंस, एजुकेशन, मेडिकल, साईंस, गवर्मेंट सभी क्षेत्रों में कम्प्युटर दस्तख दे चुका है. और अपने पैर पसार रहा है. भारत सरकार का डिजिटल इंडिया कार्यक्रम इसकी पुष्टि करने के एक बेहतर उदाहरण है.

नई टेक्नोलोजी को सीखने के लिए कम्प्युटर कोर्स विकसित किए गए है. जहाँ पर प्रत्येक नई टेक्नोलोजी की बारिकियों का अध्ययन के साथ नए शोधों के बारे में पढ़ाया और सिखाया जाता है. 

#2 इंडस्ट्रीज की जरुरत

कम्प्युटर ने हमारा काम बहुत ही आसान कर दिया है. जिस काम को करने के लिए दर्जनों लोग, सैकड़ों घंटे और लाखों रुपये के संसाधन लगते थे. आज वहीं काम कम्प्युटर सैकण्ड़ों में बहुत ही कम दाम में निपटा देता है.

साथ ही काम में सफाई, बारीकपन का ख्याल कम्प्युटर से ज्यादा ध्यान हम इंसान नही रख सकते है. इसलिए बिजनेस रोजमर्रा के कामों को कम्प्युटर द्वारा रिप्लेस कर रहे है.

जहाँ पर इंसान काम करते थे उनकी जगह रोबोट्स ले रहे है. ऑटोमोबाईल इंड्स्ट्री, लैदर इंडस्ट्री, टैक्स्टाईल, डिफेंस, मेडिकल आदि क्षेत्रों में रोबोट्स और कम्प्युटरीकृत मशीनें अपनी पेठ जमा चुकी है.

जब इंडस्ट्रीयाँ अपने आपको नई-नई तकनीक से अपग्रेड कर रही है तो उनमें काम करने वाले लोगों को भी खुद को नए ज्ञान और हुनर से अपग्रेड करना पड़ेगा. तभी हम उनकी जरूरतों को पूरा कर पाएंगे. यह हुनर और ज्ञान प्राप्त करने के लिए ही संबंधित विषय का अध्ययन करना पड़ता है.

#3 कम समय चाहिए

Time Saving Tips in Hindi

आप कम्प्युटर कोर्सों को बहुत ही कम समय में पूरा कर सकते है. क्योंकि शॉर्ट टर्म कम्प्युटर कोर्स तथा लॉन्ग टर्म कम्प्युटर कोर्स की अवधी अलग-अलग होती है. आप अपनी जरूरत के अनुसार किसी एक प्रकार के कोर्स का चुनाव कर सकते है.

पेशेवरों के लिए शॉर्ट टर्म कोर्स बहुत ही लाभदायक साबित होते है. क्योंकि उनके पास इंडस्ट्री का प्रैक्टिकल अनुभव होता है. इन कोर्स की मदद से वे नए कौशल जल्द सीख लेते है.

#4 पढ़ाई की ऑनलाईन सुविधा

कम्प्युटर कोर्स करने के लिए आपको घर से दूर जाने की जरूरत भी नही होती है. क्योंकि, अधिकतर कम्प्युटर कोर्स ऑनलाईन और डिस्टेंस मोड में उपलब्ध करवाएं जा रहे है.

इसलिए आप जब चाहे तब इन कोर्स में एडमिशन लेकर अपने समय और जरूरत के अनुसार स्टडी प्लान बनाकर सीखना शुरू कर सकते है.

ऑनलाईन कम्प्युटर कोर्स भी पूरी तरह से परम्परागत कोर्सेस (ऑफलाईन कोर्स) की भांति मान्यता प्राप्त (सर्टिफाई) होते है. और इन्हे हर जगह मंजूर किया जाने लगा है.

इसलिए, कामकाजी लोगों के साथ-साथ कॉलेज स्टुडेंट्स भी समय की कमी के कारण ऑनलाईन कोर्सेस को ज्यादा महत्व दे रहे है.

#5 सस्ते पर ज्यादा स्किलफुल

परम्परागत डिग्रीयों और कोर्सेस की तुलना में कम्प्युटर कोर्स बहुत सस्ते होते है. लेकिन, इनकी क्वालिटी का स्तर किसी भी डिग्री एवं डिप्लोमा कोर्स से बिल्कुल भी कमतर नही होता.

#6 परम्परागत शिक्षा की जरूरत नहीं

कम्प्युटर कोर्स करने के लिए आपको किसी परम्परागत डिग्री पूरी करने की जरुरत भी नही रहती है. आप ज्यादातर कम्प्युटर कोर्सेस में 10वीं तथा 12वीं क्लास उतीर्ण करने के बाद सीधे एडमिशन ले सकते है.

कम्प्युटर कोर्स के विभिन्न प्रकार – Different Types of Computer Courses in Hindi?

#1 Degree Courses

कम्प्युटर टेक्नोलोजी में भी बैचलर डिग्री, मास्टर डिग्री तथा पी. एच. डी डिग्रीयाँ ऑफर की जाती है. हमारे देश में कम्प्युटर से संबंधित कई अलग-अलग क्षेत्रों में डिग्रीयाँ ऑफर की जा रही है.

आप अपनी रुची, जरूरत और डिमांड के अनुसार डिग्री कोर्स का चुनाव कर सकते है. ये डिग्रीयाँ सरकारी और प्राईवेट युनिवर्सीटीज से आसानी से की जा सकती है.

नीचे कुछ प्रचलित कम्प्युटर डिग्रीयों की तालिका दी गई है.

Best Computer Degree Courses in Hindi

क्र. सं. कोर्स कम्प्युटर कोर्स का नाम अवधी न्युनतम योग्यता
1 BCA Bachelor of Computer Applications 3 वर्ष 12वीं
2 MCA Master of Computer Applications 3 वर्ष स्नातक
3 B. Sc. (CS) Bachelor of Science (Computer Science) 3 वर्ष 12वीं
4 M. Sc. (CS) Master of Science (Computer Science) 2 वर्ष स्नातक
5 B. Tech (CSE) Bachelor of Technology (Computer Science and Engineering) 4 वर्ष 12वीं
6 B. Tech (IT) Bachelor of Technology (Information Technology) 4 वर्ष 12वीं
7 M. Tech (CSE) Master of Technology (Computer Science and Engineering) 2 वर्ष B. Tech/B. E.
8 M. Tech (IT) Master of Technology (Information Technology) 2 वर्ष B. Tech/B. E.
9 B. E. (CSE) Bachelor of Engineering (Computer Science and Engineering) 4 वर्ष 12वीं
10 B. E. (IT) Bachelor of Engineering (Information Technology) 4 वर्ष 12वीं

#2 Computer Diploma Courses

डिग्री कोर्सेस के साथ-साथ कम्प्युटर डिप्लोमा कोर्सेस भी प्रचलित है. क्योंकि इनकी अवधि डिग्री कोर्सेस की तुलना में आधि से भी कम होती है. इसलिए स्टुडेंट्स के बीच कम्प्युटर डिप्लोमा कोर्सेस की चर्चा होती रहती है.

डिप्लोमा कोर्सेस की समयावधि छह माह से लेकर दो साल तक हो सकती है, जो डिप्लोमा की विषय-वस्तु तथा युनिवर्सिटी पर निर्भर रहती है.

  • Post Graduate Diplomas – जिस कम्प्युटर डिप्लोमा में एडमिशन या एंरॉल करने की न्यूनतम योग्यता (मिनिमम क्वालिफिकेशंस) स्नातक डिग्री (ग्रेजुएशन) होती है. उसे पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कहते है. इनके नाम की शुरुआत पोस्ट ग्रेजुएट शब्द से होती है. इन्हे आम भाषा में पी जी डिप्लोमा भी कहते है. ये परा स्नातक डिग्री (पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री) के समकक्ष माने जाते है.
  • Graduate Diplomas – जिस डिप्लोमा को करने के लिए मिनिमम क्वालिफिकेशन 10वीं या 12वीं पास होती है. वे ग्रेजुएट डिप्लोमा कहलाते है. ये डिप्लोमा स्नातक के समकक्ष होते है. इनके नाम की शुरुआत में पी जी शब्द नहीं होता है.

कुछ लोकप्रिय और डिमांडिंग कम्प्युटर डिप्लोमा कोर्सेस का नाम (Best Computer Diploma Courses in Hindi)

  • Advance Diploma in Computer Science & Engineering
  • Diploma in Computer Multimedia
  • Diploma in Hardware Maintenance
  • Post Graduate Diploma in Advance Computing (PG-DAC Diploma)
  • Post Graduate Diploma in Front Office
  • Post Graduate Diploma in Hardware Maintenance and Networking (PGDHMN)
  • Post Graduate Diploma in Computer Application (PGDCA)
  • Advance Diploma in Computer Application (ADCA)
  • Diploma in Computer Application (DCA)
  • Diploma in Information Technology (DIT)
  • Diploma in Cyber Security
  • Diploma in Cyber Law

#3 Computer Certificate Courses

कम्प्युटर सर्टिफिकेट कोर्स बहुत लोकप्रिय होते है. तीन माह से लेकर 12 माह तक के कोर्सेस सर्टिफिकेट कोर्स कहलाते है. मगर, सिर्फ इनकी अवधी ही एकमात्र कारण नही होता कि कोई कोर्स सर्टिफिकेट कोर्स है अथवा डिप्लोमा या डिग्री.

पाठयक्रम, विषय-वस्तु, कठिनाई का स्तर, फीस आदि से तय होता है कि कोई कोर्स सर्टिफिकेट कोर्स कहलाएगा या डिप्लोमा कोर्स.

प्रचलित कम्प्युटर सर्टिफिकेट कोर्सेस के नाम (Best Computer Certificate Courses in Hindi)

  • Certificate in Desktop Publishing
  • Certificate in Computer Application
  • Certificate in Computer Concepts
  • Certificate Course in Office Automation
  • Certificate Course in Web Designing
  • Certificate Course in ASP.Net
  • Certificate Course in PC, Hardware & Networking
  • Certificate Course in PC Assembly and Maintenance
  • Interactive Multimedia Development Course
  • Certificate Course in Programming through … (language name)
  • Certificate Course in Financial Accounting using TALLY
  • Certificate Course in Advance Financial Accounting
  • Certificate Course in Core JAVA
  • Certificate Course in Advanced JAVA
  • Certificate Course in Web Designing
  • Certificate Course in PHP
  • Certificate Course in Oracle SQL & PL/SQL
  • Certificate Course in Information Security & Cyber Law
  • Certificate Course in MATLAB
  • Certificate Course in AutoCAD
  • Certificate Course in Network Administration
  • Certificate Course in MS Office

#4 Computer Professional Courses

जिन कम्प्युटर कोर्सेस में किसी खास कम्प्युटर स्किल के बारे ट्रैनिंग दी जाती है, उन्हे प्रोफेशनल कम्प्युटर कोर्स कहते है.

कम्प्युटर को जिस व्यक्ति और उद्योग के लिए इस्तेमाल किया जाता है. उसे उसी व्यक्ति और उद्योग की जरूरत के अनुकूल बनाया जा सकता है. इसलिए प्रोफेशनल स्किल्स और प्रोफेशनल कोर्सेस की डिमांड बढ़ रही है.

  • Digital Marketing Courses
  • Web Designing Courses
  • Mobile App Development Courses
  • Software and Programming Language Courses
  • Microsoft Office Courses

ये कुछ प्रचलित प्रोफेशनल कम्प्युटर स्किल्स है जिनके ऊपर बहुत सारे अलग-अलग छोटे-छोटे कोर्सेस बने हुए है. आप किसी एक स्किल में प्रोफेशनल नॉलेज प्राप्त करने के लिए इन कोर्सेस में एडमिशन ले सकते हैं.

#5 Basic Computer Courses

कम्प्युटर चलाना हमें स्कुल से ही सिखाया जाता है. इसका मकसद केवल कम्प्युटर की बेसिक जानकारी देना होता है ताकि कम्प्युटर को चलाना और साधारण क्रियाओं को किया जा सके.

स्कुल के अलावा ये स्किल कुछ निजी कम्प्युटर इंस्टीट्युट्स द्वारा भी उपलब्ध करवाई जाती है. कम्प्युटर की बेसिक जानकारी देने के लिए स्पेशल कोर्स विकसित किया गया है जिसे बेसिक कम्प्युटर कोर्स कहा जाता है.

बेसिक कम्प्युटर कोर्स के माध्यम से स्टुडेंट्स को कम्प्युटर फन्डामेण्टल्स की नॉलेज उपलब्ध करवाई जाती है. यह कोर्स सरकार द्वारा भी करवाया जाता है. जिसे कुछ सरकारी नौकरियों के लिए अनिवार्य किया गया है.

भारत सरकार तथा कुछ राज्य सरकारों द्वारा बेसिक कम्प्युटर कोर्स विकसित किए गए है. जिनके नाम इस प्रकार है.

  • BCC – (Basic Computer Course) – यह कोर्स नाईलिट द्वारा करवाया जाता है. जिसके द्वारा मूलभूत कम्प्युटर अवधारणाओं से अवगत करवाया जाता है. इस कोर्स में नाईलिट से मान्यता प्राप्त ज्ञान-केंद्रों द्वारा एडमिशन लिया जा सकता है.
  • CCC (Course on Computer Concepts) – सीसीसी पूरे भारतवर्ष में प्रसिद्ध कोर्स है. जिसे नाईलिट द्वारा ही सर्टिफाई किया गया है. इस कोर्स की अवधि 180 घण्टे होती है. जिसमें ऑनलाईन एडमिशन लिया जा सकता है. इस कोर्स के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए आप मेरी सीसीसी कोर्स की पूरी जानकारी गाईड से ले सकते है.
  • MS-CIT (Maharashtra State Certificate in Information Technology) – यह कोर्स महाराष्ट्र राज्य में डिजिटल साक्षरता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से विकसित किया है. जिसके द्वारा राज्य सरकार के विभागों में कम्प्युटर शिक्षा की आवश्यकता को पूरा करना और कम्प्युटर की फन्डामेंटल नॉलेज देना है.
  • RS-CIT (Rajasthan State Certificate in Information Technology) – राजस्थान राज्य में डिजिटल साक्षरता की आवश्यकता को महसूस करते हुए राजस्थान सरकार ने राजस्थान नॉलेज कॉर्पोरेशन लिमिटेड एक कंपनी कां निर्माण किया. जिसके द्वारा राजस्थान वासियों को डिजिटल साक्षर बनाने के लिए के कोर्स विकसित किया गया. यह कोर्स राजस्थान राज्य की सरकारी नौकरियों में भी कम्प्युटर योग्यता में शामिल है.

12 बेस्ट कम्प्युटर कोर्स के नाम – 12 Job Ready Best Computer Courses Name for Year 2020

  1. Digital Marketing Course
  2. SEO Course
  3. Data Analytic Course
  4. Artificial Intelligence Course
  5. Machine Learning Course
  6. Computer Programming Course
  7. Web Developer Course
  8. Web Designer Course
  9. App Developer Course
  10. Game Designer Course
  11. Computer Animation Course
  12. Full Stack Developer Course
Best Computer Courses in Hindi

#1 Digital Marketing Course

विज्ञापन करने का पारम्परिक तरीका बदल चुका है. अब प्रोडक्ट्स अखबार, मैगजीन, टीवी कमर्शियल्स, होर्डिंग्स, पर्चे, लाउडस्पीकर के बजाए डिजिटली बेचे जा रहे है. क्योंकि लोग चौपाल पर मिलने के बजाए फेसबुक, इंस्टाग्राम, वाट्सएप, टिकटॉक पर समय बिताने लगे है.

जहाँ लोग वहाँ धंधा.

इसलिए मार्केटिंग भी डिजिटल हो गई है. जिसे डिजिटल मार्केटिंग नाम दिया है. जिसके जरिए इंटरनेट पर उपलब्ध साधनों के जरिए प्रोडक्ट्स का विज्ञापन किया जाता है.

डिजिटल मार्केटिंग केवल विज्ञापन तक सीमित नही रह गई है. बल्कि, एक प्रोसपैक्ट्स से लेकर कस्टमर बनने तक की यात्रा में उसका साथ निभाने वाला साधन बन चुकि है.

दिन प दिन डिजिटल मार्केटिंग प्रोफेशनल्स की डिमांड बढ रही है. जिसकी पूर्ती डिजिटल मार्केटिंग कोर्स को करके एक 12वीं पास स्टुडेंट्स भी कर सकता है. क्योंकि, इस कार्य को करने के लिए किसी डिग्री की जरूरत नहीं है.

आवश्यक कौशल – एसईओ तथा एसईएम का ज्ञान, कंटेंट मार्केटिंग, सोशल मीडिया मार्केटिंग का ज्ञान होना जरूरी है.

#2 SEO Course

Learn SEO in Hindi

आपने गूगल पर कुछ शब्द टाईप किए और सर्च बटन पर टैप कर दिया. कुछ ही समय में आपके सामने एक पेज खुल जाता है. जिसमें कई सारी वेबसाईट्स के नाम और वेबपते क्रमवार शामिल रहते है.

क्या आपने सोचा है पहले नंबर पर जो वेबसाईट आ रही है वह साईट ही पहले नंबर पर क्यों आ रही है?

मत सोचिए, क्योंकि यह काम एक एसईओ एक्सपर्ट का होता है. आप है नहीं! 😊  

लेकिन, आप एसईओ कोर्स में एडमिशन लेकर आसानी से कुछ ही दिनों में इस मोस्ट डिमांडिंग स्किल में महारत हासिल कर सकते है.

एसईओ एक डिजिटल मार्केटिंग स्किल है. इसलिए डिजिटल मार्केटिंग कोर्स के साथ भी इसे सिखाया जाता है. लेकिन, आप इस स्किल को अलग से सीखे तो बेहतर है.

#3 Data Analytics Course

इंटरनेट पर हमारी एक-एक हरकत ट्रैक की जाती है. इस वेब एक्टिविटी के कारण बहुत सारा डेटा जनरेट होता है. इस डेटा से हमारी व्यवहार, पसंद, नापसंद, रुची, व्यवसाय, लिंग, लोकेशन आदि जानकारी एकत्रित की जाती है. जिससे हमें आसानी से टार्गेट किया जा सकता है.

इस डेटा से काम की जानकारी निकालने का काम एक डेटा साईंटिस्ट करता है. जिसका उपयोग प्रोडक्ट तथा मार्केटिंग कैम्पिन में किया जाता है.

आज के समय डेटा एनालिटिक्स बड़ी-बड़ी कंपनियों का अभिन्न अंग बन चुका है. इसलिए, डेटा एनालिट्क्स प्रोफेशनल की मांग भी बढ़ रही है.

#4 Artificial Intelligence Course

कम्प्युटर हम इंसानों की तरह नही सोच सकता है. मगर, आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलोजी की मदद से सोचने की शक्ति विकसित की जा रही है.

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलोजी का उपयोग बढ रहा है. इसलिए इस टेक्नोलोजी के प्रोफेशनल की मांग भी इंडस्ट्री में हो रही है. स्टुडेंट्स आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में सर्टिफिकेट कोर्स करके बेहतरीन जॉब प्राप्त कर सकते है.

#5 Machine Learning Course

मशीन लर्निंग कोर्स उन प्रोफेशनल्स के लिए होते है जो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में महारत हासिल करना चाहते है.

#6 Computer Programming Course

Learn Programming in Hindi

आप कम्प्युटर पर जो भी कार्य करते है वह सारा काम कम्प्युटर सॉफ्टवेयर की मदद से करते है. इस आर्टिकल को भी आप जिस ब्राउजर पर पढ़ रहे है वह भी एक सॉफ्टवेयर है. जिसे कम्प्युटर प्रोग्रामर द्वारा विकसित किया जाता है.

यदि आपको कोडिंग करने में मजा आता है. और आप घंटों कम्प्युटर स्क्रीन के सामने बिना बोर हुए बैठ सकते है. तो प्रोग्रामिंग कोर्स में हाथ आजमाए जा सकते है.

कम्प्युटर प्रोग्रामर्स की जरूरत हमेशा बनी रहती है. इसलिए प्रोग्रामिंग सीखकर अच्छा करियर बनाया जा सकता है.

#7 Web Developer Course

इंटरनेट पर जानकारी वेबपेजों के रूप में उपलब्ध है. इन वेबपेजों को बनाने वाले लोग वेब डवलपर कहलाते है.

यह काम बिल्कुल प्रोग्रामिंग की तरह होता है. फर्क केवल बनने वाले प्रोडक्ट का होता है. वेब डवलपर कोर्स को करके आप पढ़ाई खत्म होन से पहले ही कमाना शुरु कर सकते है.

वेब डवलपर का कोर्स 10वीं क्लास के बाद से किया जा सकता है. इसलिए पार्ट टाईम स्किल के तौर पर भी इसे लिया जा सकता है. और फिर धीरे-धीरे अनुभव होने पर फुल टाईम करियर के बारे में विचार करना भी सही साबित होगा.

आवश्यक कौशलHTML, CSS, JS, PHP, SQL, Perl, ASP.Net आदि भाषाओं की जानकारी. तथा सभी मुख्य ब्राउजरों पर काम करना आना चाहिए. साथ ही WordPress, Joomla, Wix जैसे कंटेट मैनेजमेंट सिस्टम की समझ भी हो तो सोने पे सुहागा है.

#8 Web Designer Course

वेबपेजों पर सूचना की दिखावट को तय करने का काम एक वेब डिजाईनर करता है. यह काम क्रेटिविटी वाला होता है. इसलिए, इसमे रचनात्मकता की जरूरत होती है.

आवश्यक कौशल – युजर की जरूरत को समझने का हुनर होने के साथ-साथ HTML, CSS, Photoshop, Other Graphics Tools की जानकारी जरूरी है.

#9 App Developer Course

जिस तरह कम्प्युटर में किसी कार्य-विशेष को करने के लिए सॉफ्टवेयर बनाए जाते है. ठीक इसी तरह स्मार्टफोन में इसके लिए एप्स विकसित किए जाते है. इन्हे आप मोबाईल एप के नाम से भी जानते है.

इस हुनर को एप डवलपर कोर्स करके सीखा जा सकता है. और एप डवलपर के रुप में करियर बनाया जा सकता है.

आवश्यक कौशलस्मार्टफोन ऑपरेटिंग सिस्टम की समझ होने के साथ आवश्यक टूल्स तथा भाषाओं का ज्ञान की जरूरत होती है. जैसे, एंड्रॉइड स्टुडियों, जावा, सी आदि.

#10 Game Designer Course

पबजी गेम, एंग्री बर्ड आदि गेम आपने जरूर खेले होंगे. इन गेम्स तथा अन्य मोबाईल गेम्स में जो ग्राफिक्स नजर आते है, गेम्स के नियम, सेटिंग्स, गेम को खेलने का तरीका. ये सभी काम एक गेम डिजाईनर करता है.

बहुत सारे कम्प्युटर इंस्टीट्युट्स में गेम डिजाईनिंग कोर्स करवाए जाते है. आप उपलब्ध साधनों तथा अपनी जरुरत के अनुसार कोर्स चुन सकते है.

#11 Computer Animation Course

बचपन में कार्टून देखकर ही हम सब बड़े हुए है. टॉम एण्ड जैरी की याद तो आपको आती ही होगी. भूल गए?

छोटा भीम, डोरेमोन, मोटू-पतलू यह सभी ऐनिमेशन पर आधारित टीवी कैरेक्टर है. जिन्हे बच्चे बहुत पसंद करते है. इन्हे कम्प्युटर एनिमेशन के जरिए बनाया जाता है.

ग्राफिक डिजाईनिंग में प्रोफेशनल कोर्स करके इस क्रेटिव जॉब को हासिल किया जा सकता है. और बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स डिग्री के जरिए भी एनिमेशन की बारीकियों को सीखा सकता है.

#12 Full Stack Developer Course

वेब डिजाईनर तथा वेब डवलपर का हुनर जब एक ही व्यक्ति में होता है तो उसे फुल स्टैक डवलपर कहते है. मतलब, दोनों कार्य एक व्यक्ति कर लेता है.

आजकल, फुल स्टैक डवलपर की मांग भी बहुत बढ़ रही है. इसलिए इस कोर्स को करके वेब डवलपर के तौर पर करियर बनाया जा सकता है.

आवश्यक कौशल – HTML, CSS, Bootstrap, PHP, JavaScript, SQL, CMS, Graphics Designing आदि का ज्ञान होना जरूरी है.

कम्प्युटर कोर्स से संबंधित कुछ सामान्य सवाल-जवाब

सवाल #1 – 10वीं के बाद कौनसा कम्प्युटर कोर्स करना चाहिए?

जवाब – 10वीं क्लास के बाद आपको सबसे पहले बेसिक कम्प्युटर कोर्स मे एडमिशन लेना चाहिए. वैसे, स्कुल में कम्प्युटर फण्डामेंटल्स की जानकारी दी जाती है. फिर भी मैं आपको इस कोर्स को करने की सलाह दुँगा.

इसके बाद, आप अपनी रुची के अनुसार किसी शॉर्ट टर्म कम्प्युटर कोर्स में एडमिशन लें. किसी भी कम्प्युटर कोर्स को जॉइन करने से पहले अपनी पढ़ाई का जरूर ध्यान रखें. क्योंकि, आगे की पढ़ाई भी आप साथ-साथ करने वाले है.

सवाल #2 – 12वीं के बाद कौनसा कम्प्युटर कोर्स होता है?

जवाब – यदि आप 12वीं क्लास के बाद कम्प्युटर कोर्स करना चाहते है तो आप अपनी रुची और जॉब मिलने के अवसर पर ज्यादा ध्यान दें. क्योंकि, 12वीं के बाद आप कॉलेज में एडमिशन लेने जा रहे हैं. जहाँ आपको आगे की पढ़ाई करने के लिए काम की जरूरत भी पड़ेगी.

12वीं के बाद आप डिप्लोमा कोर्सेस और सर्टिफिकेट कम्प्युटर कोर्स के पात्र हो जाते है. इसलिए आप किसी एक या दो डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन लेकर कम्प्युटर की नॉलेज प्राप्त कर सकते है.

मैं यहाँ आपको किसी प्रोफेशनल कोर्स में एडमिशन लेने की सलाह दूँगा. क्योकि, ये कोर्स आप ऑनलाईन जॉइन कर सकते है और इनकी डिमांड ज्यादा होती है. साथ ही जॉब मिलने के चांस परम्परागत कोर्सेस की तुलना में अधिक होते है.

सवाल #3 – शॉर्ट टर्म कम्प्युटर कोर्स क्या होते है?

जवाब – वे कम्प्युटर कोर्स जिनकी अवधि 12 माह से कम होती है, शॉर्ट टर्म कोर्स कहलाते है. इस अवधि में बेसिक कम्प्युटर कोर्स, सर्टिफिकेट कम्प्युटर कोर्स तथा 6 माह एवं 12 माह वाले डिप्लोमा कोर्स शामिल होते है.

आप शॉर्ट टर्म कोर्सेस को अपने नजदीकि कम्प्युटर सेंटर से कर सकते है. आजकल तो ऑनलाईन एजुकेशन का बोलबाला है. तो किसी ऑनलाईन एजुकेशन पोर्टल से भी इन कोर्सेस में एंरॉल किया जा सकता है. 

सवाल #4 लॉन्ग टर्म कोर्स किसे कहते है?

जवाब – 12 माह से लंबी अवधि वाले कम्प्युटर कोर्स लॉन्ग़ टर्म कम्प्युटर कोर्स कहलाते है. इनमें पोस्ट ग्रेजुएट कम्प्युटर डिप्लोमा कोर्सेस, 12 माह से अधिक अवधि के प्रोफेशनल कोर्सेस आदि शामिल होते है.

इन कोर्सेस में मान्यता प्राप्त कम्प्युटर इन्स्टीट्यूट में जाकर एडमिशन लें. यहाँ पर आपको थ्योरी के साथ प्रैक्टिकल्स की जानकारी लाईव प्रोजेक्ट्स तथा एसाईनमेंट्स के जरिए दी जाती है. साथ ही आपको इंटर्नशिप का मौका भी मिल जाता है.

डिजिटल एजुकेशन की बढ़ती मांग और समय की कमी को देखते हुए आप ऑनलाईन भी प्रोफेशनल कम्प्युटर कोर्सेस में एंरॉल कर सकते है.

सवाल #5 – ऑनलाईन कम्प्युटर कोर्स क्यों करना चाहिए?

जवाब – पढाई करने का परम्परागत तरीके की बात की जाए तो हम किसी संस्थान में जाकर एडमिशन लेते है और फिर इस संस्थान में हमें संबंधित विषय के बारे में पढ़ाया जाता है.

डिजिटल क्रांति के कारण हर काम का तरीका बदल चुका है. इसलिए पढ़ाई भी डिजिटल हो रही है. और कम्प्युटर कोर्सेस डिजिटल एजुकेशन में अगुवाई कर रहे है.

अधिकतर प्रोफेशनल कम्प्युटर कोर्सेस को ऑनलाईन किया जा सकता है. वर्किंग प्रोफेशनल्स के लिए यह तरीका किसी वरदान से कम नहीं है. स्टुडेंट्स भी डिजिटल माध्यम से एडमिशन लेकर अपने समय और पैसे की बचत कर सकते है.

आपने क्या सीखा?

इस आर्टिकल में आपने Best Computer Courses in Hindi for 2020 के बारे में विस्तार से जाना है. साथ ही आपने जाना कि कम्प्युटर कोर्स मे एडमिशन लेना क्यों करियर के लिए बेहतर चॉइस साबित हो सकती है.

मुझे उम्मीद है कि यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होगा. यहाँ बताए गए सभी कम्प्युटर कोर्सों के बारे में अपने परिचितों और दोस्तों को जानकारी देने के लिए इस आर्टिकल को सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें.

यदि आपको कोई टॉपिक समझ नही आया है या फिर कोई ओर सवाल है तो उसे आप कमेंट के माध्यम से मुझसे पूछ सकते है.  

#BeDigital

लेख आपको पसंद आया?
👍👎

By GP Gautam

लेखक: GP Gautam

GP Gautam is a writer, trainer and speaker. Works as Editor-in-Chief at TutorialPandit.com since 2016. He is well-known and appreciated for his simplicity in his writing. You can connect with him at https://gpgautam.com. He is always ready to help others. You can also follow him on Social Media:
Facebook Twitter Amazon Telegram

27 replies on “स्टुडेंट्स के लिए ये है 12 Best Computer Courses जो दिलाएंगे हाथोहाथ जॉब”

मैंने केमिकल इंजीनियरिंग डिप्लोमा कर रखा है और आरएससीआईटी कंप्यूटर कोर्स और पब्लिक हेल्थ इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट कोर्स कर रखा है फिर भी मेरे को प्राइवेट जॉब नहीं मिल रही हैं ना जॉब दे रहे कंपनी वाले मेरे पास इतने सैटिफिकेट होने के बावजूद भी मेरे को प्राइवेट नौकरी नहीं मिल रही है राज्य राजस्थान जिला झालावाड़ तहसील इकलेरा ग्राम पोस्ट गेहूं खेड़ी 32 60 33

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *