Categories
Cyber Security How To

सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से कैसे बचाएं 14 Pro Tips to Secure Your Social Media Account in Hindi

डिजिटल दुनिया में आसान होती चीजे कितनी खतरनाक हो सकती है. इसका हमें कुछ अंदाजा नहीं है. क्योंकि, इस और हमारा ध्यान कभी जाता ही नहीं है.

आए दिन हम हैंकिंग की खबरे सुनते रहते है. क्या आपने कभी अपने सोशल मीडिया अकाउंट की सेक्यूरिटी के बारे में सोचा है? क्या आप जानते है आपका सोशल मीडिया अकाउंट कुछ ही सैकण्ड में हैक हो सकता है.

एक पुरानी कहावत है “जब खुद पर बीतती है तभी अहसास होता है.” इसलिए जब तक हमारा अकाउंट हैक नहीं होगा तब तक हम साइबर सेक्युरिटी को सिरियसली नहीं लेने वाले है.

अगर, आप भी अकाउंट हैक होने का इंतजार कर रहे हैं तो आप इस पोस्ट को यहीं छोड़कर वापस जा सकते है. क्योंकि, इस पोस्ट में हम सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से कैसे बचाएं? इस संबंध में जानकारी दें रहे है. जो आपके लिए अभी काम की नही है.

हम जानते है आप इनमे से नहीं है और नुकसान होने के बजाए आप एहतियात बरतने पर विश्वास करते है. इसलिए, इस पोस्ट को अभी तक पढ़ रहे है.

हम भी ज्यादा बात नहीं करते हुए सीधे मुद्दे पर आते है और जानते है कुछ उपयोगी Social Media Security Tips in Hindi जो आपके सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचाने में काम आएंगी. तथा आपके सोशल मीडिया अकाउंट को सेफ रखेंगी.

सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचाने के 14 तरीके

  1. मजबूत पासवर्ड बनाएं
  2. निरंतर अपडेट करें
  3. 2FA Enable रखें
  4. भिन्न Email IDs बनाएं
  5. Suspicious Links पर क्लिक ना करें
  6. Remember Password का उपयोग ना करें
  7. ब्राउजर हिस्ट्री डिलिट कर दें
  8. अलग अकाउंट अलग पासवर्ड
  9. एंटीवायरस प्रोग्राम उपयोग में लें
  10. लॉग आउट करें
  11. थर्ड-पार्टी एप्स को एक्सेस ना दें
  12. नया वर्जन इस्तेमाल करें
  13. Public Wi-Fi को नजरअंदाज करें
  14. साइबर कैफे पर लॉग़िन ना करें

आइए, अब प्रत्येक सेक्युरिटी उपाय के बारे में विस्तार से जानते हैं और आपने सोशल मीडिया अकाउंट को सुरक्षित बनाते हैं.

#1 मजबूत पासवर्ड बनाएं

अपने सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से बचाने का पहला और सबसे महत्वपूर्ण तरीका है एक मजबूत और सुरक्षित पासवर्ड का इस्तेमाल किया जाए.

अब आप पूछ सकते है कि मजबूत पासवर्ड से आपका क्या मतलब है?

आपने सही सवाल पूछा है. और इसका जवाब देने से पहले आपको जानना पड़ेगा कि कमजोर पासवर्ड कैसा होता है?

अधिकतर लोग पासवर्ड को सिरियसली नहीं लेते है. इसे केवल प्रोसेस का हिस्साभर मानते है. इसलिए, स्टेप को पास करने के लिए यूं ही याद रहने वाला पासवर्ड डाल देते है.

कुछ कमजोर पासवर्ड के उदाहरण निम्न  है:

  • जन्म दिन – 05082001
  • मोबाइल नम्बर – 0123456789
  • खुद का नाम – punitgautam

इस तरह के पासवर्ड को जानने के लिए हैकर्स को कुछ भी मेहनत नहीं करनी पड़ती है. केवल आपके यूजरनेम अथवा ईमेल आइडी से ही पता लगा लेंगे कि आपका पासवर्ड क्या होगा?

इसलिए, इस तरह के पासवर्ड भूलकर भी इस्तेमाल नहीं करें और अगर कर रहे है तो तुरंत बदल लें. अन्यथा आप सोशल मीडिया अकाउंट को जोखिम में डाल रहे है.

चलिए, अब एक Strong Password के बारे में जानते है.

साइबर सेक्युरिटी को ध्यान में रखते हुए सभी सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म आपको लेटर्स के अलावा नम्बर, सिंबल तथा स्पेशल कैरेक्टर्स पासवर्ड में इस्तेमाल करने की अनुमती देते है.

इसलिए, आपका पासवर्ड भी इनका मिश्रण ही होना चाहिए. इस तरह का पासवर्ड का पता लगाना बहुत मुश्किल होता है.

एक मजबूत पासवर्ड इस प्रकार का हो सकता है.

Tut0ri@lP@nd!t

इस पासवर्ड में हमने TutorialPandit को सिंबल तथा नंबरों से बदल दिया है. जिसे याद भी रखा जा सकता है और सुरक्षित भी है.

आप भी अपना पासवर्ड इसी तरह बना सकते है. और अपने फेसबुक अकाउंट को हैक होने से बचा सकते है.

इसे पढ़े 👉 मजबूत और सुरक्षित पासवर्ड कैसे बनाते है?

#2 निरंतर अपडेट करें

सिर्फ स्ट्रॉंग पासवर्ड बनाना काफी नहीं है. आपने एक बार पासवर्ड बना लिया और भूल गए. ऐसा नहीं करना है. इस पासवर्ड को नियमित अंतराल पर बदलते रहे.

इसका फायदा यह होगा कि अगर पासवर्ड किसी डिवाइस में सेव हो गया है या फिर आपने कई जगहों पर अकाउंट को लॉगिन ही छोड़ दिया है तो पासवर्ड अपडेट होते ही यह सब बेकार हो जाएंगे. और आपका अकाउंट सेफ रहेगा.

इसलिए, फेसबुक, इंस्टाग्राम, टिकटॉक पासवर्ड अपडेट करते रहे. और पासवर्ड के साथ खेलते रहे.

निश्चित समय अंतराल के अलावा आप इन परिस्थियों में भी अपना पासवर्ड जरूर बदल लें.

  • आपने किसी नए यूजर के डिवाइस में लॉगिन किया है
  • आपको अंदेशा है कि कोई आपके अकाउंट में लॉगिन करने की नाकाम कोशिश कर रहा है
  • आपका कम्प्यूटर या स्मार्टफोन मेलवेयर या वायरस से संक्रमित हो गया है
  • लम्बे समय से आपने पासवर्ड नही बदला है

#3 2FA Enable रखें

2FA Full Form होती है Two Factor Authentication. यानि अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर 2 परतों वाली सुरक्षा परता लगाना.

आजकल, सभी ऑनलाइन अकाउंट्स में 2FA सुविधा मुफ्त दी जाती है. जिसका इस्तेमाल आप अपने अकाउंट को सुरक्षित करने के लिए एक्टिव कर सकते है.

2FA यूजर्स की पहचान सुनिश्चित करने की एक सेफ विधि है. यह फीचर पता करता है कि जिस व्यक्ति का अकाउंट है वही व्यक्ति उसे एक्सेस कर रहा है.

जब आप फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम आदि सोशल मीडिया अकाउंट में Two Factor Authentication Enable कर देते हैं.

तब आप या अन्य यूजर आपके डिवाइस पर यूजरनेम & पासवर्ड के साथ लॉगिन करता है तो ऑथेंटिकेशन के लिए आपके द्वारा रजिस्टर किए गए नंबर या ईमेल आइडी पर एक One Time Password (OTP) आता है जिसे एंटर करने के बाद ही लॉगिन होता है.

जिस तरह ऑनलाइन पेमेंट से पहले आइडेंटिटी कंफर्म करने के लिए रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आता है. तभी पेमेंट सफल हो पाता है.

यदि आप अपनी साइबर सेक्युरिटी के लिए गंभीर है और अपनी डिजिटल लाइफ को Full Protected रखना चाहते है तो आपको अपने सोशल मीडिया अकाउंट में Two Factor Authentication Enable करना चाहिए.

#4 भिन्न Email IDs बनाएं

सोशल मीडिया अकाउंट के लिए इस्तेमाल होने वाली ईमेल आइडी को पर्सनल ईमेल आइडी से भिन्न रखें. दोनों कार्यों के लिए एक ही Email ID से काम ना चलाएं. वैसे भी ईमेल आइडी मुफ्त ही बनती है. इसलिए, इस काम में आलस ना करें.

आप सोच रहे होंगे कि आखिर अपने सोशल मीडिया और पर्सनल ईमेल आइडी को अलग-अलग क्यों बनाना चाहिए?

तो बता दें आप बहुत बड़ा रिस्क लें रहे है. यदि आप ऐसा करते है तो सोशल मीडिया अकाउंट के साथ-साथ आपकी पर्सनल लाइफ भी डिस्टर्ब हो सकती है.

एक बार सोशल मीडिया अकाउंट में सेंध लग गई तो आपका पर्सनल डेटा और जानकारी हैकर्स के पास होंगी.

#5 Suspicious Links पर क्लिक ना करें

हैकर्स आपके सोशल मीडिया अकाउंट को हैक करने के लिए नए-नए तरीके इजात करते रहते हैं. इन्ही में एक का नाम है – Suspicious Link Click.

आप किसी भी यूजर द्वारा भेजे गए लिंक्स पर बिना सोचे-समझे क्लिक कर देते हैं तो संभव है आपकी पर्सनल इंफॉर्मेशन किसी असुरक्षित सर्वर पर स्टोर हो जाए.

इसलिए, आपके ईमेल अकाउंट में, मैसेज पर, फेसबुक मैसेंजर आदि जगहों पर कोई लिंक आई है और आप उस लिंक के बारे में कुछ भी नहीं जान पा रहें तो उसे छोड़ दें. और क्लिक ना करें.

इस तरह की लिंक्स भारी डिस्काउंट, वन टाइम ऑफर, बेस्ट डील्स, लॉटरी आदि का लालच देने वाली होती है. मगर, इन पर क्लिक करने पर कुछ पता ही नहीं चलता है कि हम कहां आ चुके है.

आजकल ऐसे मामले सबसे अधिक देखे जा रहे है जहां पर फेक लिंक के जरिए यूजर्स की जानकारी या बिजनेस डिटेल्स को प्राप्त कर लिया हो.

कई बार हैकर्स द्वारा इस तरह प्रोग्रामिंग की जाती है कि जब आप ऐसे लिंक पर क्लिक करते हैं तो आपके डिवाइस में वायरस, मेलवेयर या कोई सॉफ्टवेयर प्रोग्राम भी इंस्टॉल हो जाता है. इसलिए, लिंक की पहचान सुनिश्चित किए बिना क्लिक करने से बचे.

सुरक्षित लिंक्स की पहचान कैसे करें?

  • यह लिंक https से शुरु होती है जैसे https://tutorialpandit.com
  • लिंक का वेब एड्रेस पठनीय होगा जैसा ऊपर लिखा है
  • सही वर्तनी होगी और पहचाना आसान होता है. जैसा ऊपर लिंक है उसे देखकर साफ-साफ पता चल रहा है कि किसी वेबसाइट का लिंक है. और लिंक पर क्लिक करें बिना भी इसके बारे में जानकारी जुटाई जा सकती है. तरिका – आप tutorialpandit को गूगल करके इस लिंक की प्रमाणिकता पता कर सकते है.
  • लिंक पर क्लिक करने पर ब्राउजर की एड्रेस बार में भी समान एड्रेस दिखाई देगा. मतलब Redirect नही होती है. इसे समझने के लिए आप ऊपर लिंक पर क्लिक करके देखिए जब वेबसाइट खुल जाएं तब ब्राउजर की सर्च बार में देंखे कि क्या नाम दिखाई दें रहा है? अगर, यही नाम है तब यह प्रमाणिकता की निशानी है. इसी तरह अन्य लिंक्स को जांचे.
  • जो दावा मैसेज में किया गया है वही बातें वेबसाइट पर होंगी और अन्य स्रोतों से भी जानकारी मिलान कर रही होगी.

#6 Remember Password का उपयोग ना करें

Chrome Browser Remember Password Screen

जब किसी सोशल मीडिया अकाउंट में यूजरनेम और पासवर्ड डालकर लॉगिन करते है तो ब्राउजर इस जानकारी को आपके लिए सेव करने के लिए पूछता है. और हम बिना पढ़े ही उसे अनुमती दे देते हैं.

इसका फायदा यह है कि जब भी इस अकाउंट में लॉगिन करेंगे तो आपको पासवर्ड नहीं डालना पड़ेगा.

लेकिन, यही सुविधा असुविधा में बदलते देर नहीं करती है. यदि कोई दूसरा यूजर आपके डिवाइस को एक्सेस करता है और आपने फेसबुक, इंस्टाग्राम, टिकटॉक के पासवर्ड सेव करके रखे है तो इन्हे एक्सेस करने से आप रोक नही पाऐंगे.

साइबर सेक्युरिटी की यह छोटी-सी टिप्स बहुत ही काम की है इसे इस्तेमाल जरूर करें और ब्राउजर को लॉगिन डिटेल्स सेव करने का काम ना दें. आप खुद करें.

#7 ब्राउजर हिस्ट्री डिलिट कर दें

यदि आपने दोस्त, पड़ोसी या फिर किसी अन्य के डिवाइस में फेसबुक या अन्य सोशल मीडिया अकाउंट लॉगिन किया है तो काम खत्म होने के तुरंत बाद लॉग आउट करना ना भूलें.

लॉग आउट करने के बाद ब्राउजर की हिस्ट्री क्लीन जरूर कर दें. यानि आपको कोई अवशेष नही छोड़ना है.

सभी ब्राउजरों में ब्राउजिंग हिस्ट्री डिलिट करने का विकल्प दिया होता है. इसलिए, आप जिस भी ब्राउजर का इस्तेमाल करते है. उसकी मेनू में जाकर हिस्ट्री डिलिट जरूर कर दें.

इसे पढ़े 👉 क्रोम ब्राउजर में ब्राउजिंग हिस्ट्री कैसे डिलिट करें?

💡 Useful Tip

अपने डिवाइस के अलावा अन्य डिवाइस में इंटरनेट इस्तेमाल करने के लिए आप Incognito/Private Browsing Feature का इस्तेमाल करें. आपकी सर्च हिस्ट्री सेव नहीं होगी.

#8 अलग अकाउंट अलग पासवर्ड

सहुलियत के लिए अधिकतर यूजर एक ही पासवर्ड को सभी सोशल मीडिया अकाउंट्स के लिए इस्तेमाल करते है. जो एक भारी चूक है और साइबर खतरों को बुलावा देना है.

आपकी यह छोटी-सी चूक सभी सोशल मीडिया अकाउंट्स को हैक करने के लिए काफी है. मान लिजिए, किसी को आपके फेसबुक पासवर्ड पता चल जाएं तो पूरी संभावना है कि वह उस पासवर्ड का इस्तेमाल करके आपके अन्य अकाउंट्स जैसे ट्वीटर, इंस्टा अकाउंट, टिकटॉक अकाउंट को भी एक्सेस कर लें.

पासवर्ड तो आपका एक ही प्लैटफॉर्म अलग-अलग होने से कोई फर्क नहीं पड़ता है.

इसलिए, सावधान रहें. अलग-अलग अकाउंट्स के लिए भिन्न पासवर्ड इस्तेमाल करें. और अपनी सुरक्षा की ढाल को एक परत और मोटी कर लें.

#9 एंटीवायरस प्रोग्राम उपयोग में लें

Antivirus Program Safe Your Device from Virus Attacks

साइबर सेक्युरिटी की यह टिप्स उन सोशल मीडिया यूजर्स के लिए बेहद उपयोगी है जो कम्प्यूटर पर इन प्लैटफॉर्म्स का इस्तेमाल करते है और ऑनलाइन पेमेंट जैसे कार्यों को भी अंजाम देते है.

ऐसे यूजर्स को सिर्फ अकाउंट सेक्योर करने से काम नहीं चलाना चाहिए. बल्कि, पूरे सिस्टम की सुरक्षा का इंतजाम करना चाहिए.

सिस्टम सुरक्षा के लिए सबसे आसान और बेस्ट तरीका है एक एंटीवायरस प्रोग्राम कम्प्यूटर में होना चाहिए. यह प्रोग्राम अंजान और असुरक्षित एप्स, फाइल्स तथा गतिविधियों पर नजर रखता है.

साथ में समय-समय पर Security Scan भी करता रहता है. इससे आप वायरस, मेलवेयर, स्पाइवेयर जैसे खतरों से बचे रहते है.

इसलिए, सिस्टम में एक बढ़िया कंपनी का लैटेस्ट एंटीवायरस प्रोग्राम हमेशा इंस्टॉल करके रखें और अपनी डिजिटल सुरक्षा ढाल को और मजबूत कर लें.

वैसे तो एंटीवायरस प्रोग्राम इंटरनेट पर फ्री मौजूद है. लेकिन, हम आपको इन्हे इस्तेमाल करने की सलाह नहीं देते है. इसके बजाए आपको पैड एंटीवायरस प्रोग्राम का उपयोग करना चाहिए.

फ्री प्रोग्राम्स की लिमिटेशन होती है. इनसे पूरी सुरक्षा नहीं मिलती है. और कुछ नुकसान होने या हैकर्स का अटैक होने पर कोई सपोर्ट भी नहीं मिलता है. इसलिए, हमेशा पैड एंटीवायरस प्रोग्राम ही इंस्टॉल करें.

#10 लॉग आउट करें

ऊपर हमने आपको बताया था कि अन्य डिवाइस से काम खत्म होने के बाद लॉग आउट जरूर करें. यह आपकी सुरक्षा के लिए बेहद जरूरी है.

यदि आप एक कदम और चलना चाहते है तो अपने डिवाइस से भी काम खत्म होने के बाद लॉग आउट करने की आदत जोड़ लें.

इससे फायदा यह होगा कि आप काम पड़ने पर ही सोशल मीडिया पर एक्टिव रहेंगे बाकि समय अकाउंट बंद रहेगा तो खतरा की संभावना बहुत कम रहेगी.

साथ ही आपके अलावा कोई भी यूजर आपके डिवाइस में भी इन्हे एक्सेस नही कर पाएगा.

#11 थर्ड-पार्टी एप्स को एक्सेस ना दें

बहुत सारे एप्स आपके सोशल मीडिया अकाउंट को उनके प्लैटफॉर्म पर लॉगिन करने की इजाजत देते है.

यह सुविधा आपको आसान लगती है. मगर, सारा कंट्रॉल आप इस प्लैटफॉर्म के हाथ में दे देते हैं. मतलब, अब आपके साथ-साथ यह एप भी आपके सोशल मीडिया अकाउंट की जानकारी एक्सेस कर पाएगा.

इसके अलावा गूगल प्ले स्टोर में हजारों एप्लिकेशन मिल जाऐंगे जिन्हे एप डवलपर्स द्वारा सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म की क्षमता को बढ़ाने के उद्देश्य से विकसित किया जाता है.

जब आप इन थर्ड-पार्टी एप्स को सोशल मीडिया अकाउंट के थ्रू एक्सेस दे देते है. तब ये एप्स आपकी सारी जानकारी चुराने लगते है. और आपको पता भी नही चलता है.

उदाहरण के तौर पर देंखे तो बहुत सारे ऐसे एप्स है जो फेसबुक, इंस्टाग्राम वीडियोज को डाउनलोड करने की सुविधा प्रदान करते है. यह काम तो करते है मगर, इनकी कीमत आपकी जानकारी देकर चुकानी पड़ती है. और यह जानकारी कितनी सुरक्षित है? एप मालिक के अलावा कोई नही जानता है.

इसलिए, इस तरह की सुविधा देने वाले एप्स, आपका भविष्य बताने वाले एप्स, आपकी तुलना किसी काल्पनिक देवी-देवता से करने वाले एप्स, सेलिब्रिटी बनाने वाले एप्स से बच कर रहे और इनका इस्तेमाल ना करें.

थोड़े से मनोरंजन के चक्कर में आप अपना बहुत नुकसान कर बैठते हैं. जिसकी आपको भनक भी नहीं लगती. और ये जरूरी एप्स नहीं होते है इनके बिना आपका स्मार्टफोन आराम से काम कर सकता है.

#12 नया वर्जन इस्तेमाल करें

आपके मोबाइल फोन में इंस्टॉल एप को आखिरी बार कब अपडेट किया था?

ये कैसा सवाल है? मुझे तो इस बारे में कुछ पता नहीं है. क्या इन एप्स को अपडेट भी करना पड़ता है!

अगर, आपकी भी यही प्रतिक्रिया है तो आप बहुत जोखिम में अपना मोबाइल चलाते है.

अपने फोन को हैक होने से बचाने के लिए तथा डेटा की सुरक्षा करने के लिए हमेशा अप-टू-डेट एप्लिकेशन ही इस्तेमाल करें और जो पुराने एप इंस्टॉल है उन्हे भी समय-समय पर अपडेट करते रहे.

एप अपडेट करने से आपको नई फिचर्स के साथ ज्यादा सुरक्षित वर्जन मिलता है. इसलिए, नया खतरा से मुकाबला करने के लिए आपका एप तैयार रहता है.

एंड्रॉइड एप्स को अपडेट करने के लिए आप प्ले स्टोर का उपयोग करें. और इन स्टेप्स को फॉलो करके अपने सभी एप अभी अपडेट कर लें.

  • प्ले स्टोर ओपन करें
  • मेनू पर टैप करें
  • My Apps & Games पर जाएं
  • Installed के अंदर “Update All” पर टैप करें
  • ऐसा करते ही सारे एप अपडेट होना शुरु हो जाऐंगे

#13 Public Wi-Fi को नजरअंदाज करें

आप किसी भी पब्लिक नेटवर्क पर सोशल मीडिया अकाउंट पर लॉगिन ना करें. क्योंकि, इस तरह के नेटवर्क ओपन होते है और सुरक्षा कम से कम होती है. इसलिए, आपकी जानकारी कोई भी एक्सेस कर सकता है.

रेल्वे वाई-फाई, बस स्टैण्ड नेटवर्क, मेट्रो वाई-फाई, लाइब्रेरी, चौक-चौराह आदि जगहों पर उपलब्ध फ्री वाइ-फाई का इस्तेमाल इंटरनेट ब्राउजिंग तक ही सीमित रखें. फेसबुक, इंस्टा, ट्वीटर पर लॉगिन ना करें.

#14 साइबर कैफे पर लॉगिन ना करें

साइबर कैफे की गिनती भी सार्वजनिक जगहों में ही होती है. दिन भर में ना जाने कितने लोग एक ही डिवाइस का इस्तेमाल अलग-अलग कार्यों को पूरा करने के लिए करते हैं.

इसलिए, साइबर कैफे पर मौजूद कम्प्यूटर पर भी फेसबुक आदि का उपयोग खतरों को बुलावा देना है. क्योंकि, आप नहीं जानते है यह कम्प्यूटर किस नेटवर्क से जुड़ा है और क्या-क्या सॉफ़्टवेयर इंस्टॉल है?

आपने क्या सीखा?

इस सोशल मीडिया अकाउंट सेक्यूरिटी गाइड में हमने आपको सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने कैसे बचाया जा सकता है. इस बारे में कुछ सेक्युरिटी उपाय आपको बताएं हैं.

अगर, आप इन सेक्युरिटी उपायों का इस्तेमाल सही ढ़ग से करेंगे तो आपकी साइबर सुरक्षा ढाल बहुत ही मजबूत बनेगी. और आप अपने फेसबुक, इंस्टाग्राम ट्वीटर अकाउंट को हैक होने से बचा पाएंगे.

हमें उम्मीद है कि यह सेक्युरिटी ग़ाइड आपको पसंद आएगी और आपके लिए उपयोगी साबित होगी. इन सेक्युरिटी उपायों को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें. और हमसे कुछ छूट गया है या कोई सवाल है तो कमेंट करके जरूर पूछे.

#BeDigital

लेख आपको पसंद आया?
👍👎

By TP Staff

लेखक: TP Staff

TP Staff, TutorialPandit की कम्प्यूटर और टेक्नोलॉजी पेशेवरों की टीम है, जिसका नेतृत्व जी पी गौतम द्वारा किया जाता है. TutorialPandit के माध्यम से भारत देश में हर साल लाखों लोग फ्री डिजिटल शिक्षा ग्रहण कर रहे है.

5 replies on “सोशल मीडिया अकाउंट को हैक होने से कैसे बचाएं 14 Pro Tips to Secure Your Social Media Account in Hindi”

बहुत ही अच्छी जानकारी स्पस्ट और अच्छे से आपने बताई है आपका लेखन बहुत ही अच्छा है और विषय की पकड़ भी , जिस प्रकार से आपने अकाउंट हैक होने से बचने के उपाय सुझाए है निश्चित ही वह इन्टरनेट से जुड़े हर व्यक्ति को पता होने चाहिए |
बहुत अच्छा लेख है साझा करने के लिए धन्यवाद|

I loved reading your article. I often read new articles on your blog, which led me to learn a lot. All your articles have the full ability to understand the topic completely. You continued to give us your knowledge in the same way, thank you very much for this.

Thank u so much sir
Bahut hi sundar Article hai
Maza aa gaya, Post di gayi Jankari beyhad achchi lagi Maine Apne Bahut saare Friends ko share and 4wad kiya

Kuch knowledge pahle se thi kuch new Aaj Seekha
Thanks Again

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *