Categories
CSS Programming

CSS क्या है और CSS कैसे सीखे हिंदी में जानकारी

CSS के पहले वेब डॉक्युमेंट्स बिना फॉर्मेटिंग के प्रकाशित किए जाते थे. यानि सिर्फ काले अक्षरों के ढेर के सिवा कुछ नही होता था.

जिन्हे पढ़ने का कतई मन नहीं करता था. इसी समस्या का समाधान ढूँढने के लिए HTML Style Tag का विकास हुआ. लेकिन, इससे बात नहीं बनी.

इसलिए, इसी स्टाइल टैग को आगे विकसित करते हुए एक अलग ही वेब डॉक्युमेंट्स की भाषा का निर्माण हुआ. जिसे हम सीएसएस के नाम से जानते है.

अब आपके दिमाग में CSS क्या है (CSS in Hindi), CSS का उपयोग कहाँ किया जाता है? CSS और HTML में क्या अंतर है? CSS के क्या कार्य है और इसे कौन डवलप करता है? आदि सवाल आ रहे होंगे. तो इनका जवाब देने के लिए ही यह लेख आपके लिए प्रकाशित किया गया है. अध्ययन की सुविधा के लिए इसे निम्न भागों में बांट दिया गया है.



CSS क्या है?

CSS वेब डॉक्युमेंट्स को स्टाइल करने की भाषा है, जिसे W3C – World Wide Web Consortium द्वारा विकसित किया गया है. इसका पहला संस्करण 1996 में प्रकाशित किया गया था. CSS 3 इसका नवीनतम संस्करण है. इसका उपयोग एक वेबपेज को सजाने के लिए होता है. और HTML के साथ-साथ ही इस्तेमाल होती है.  

आप जानते है कि HTML द्वारा वेब डॉक्युमेंट्स का ढ़ाँचा (Structure) तैयार किया जाता है. उस ढ़ाँचे को जिस तकनीक से सजाया यानि फॉर्मेट किया जाता है. उस तकनीक को ही सीएसएस नाम दिया गया है.

इस बात को हमने ऊपर CSS की परिभाषा से स्पष्ट कर दिया है.

CSS का उपयोग एक एचटीएमएल डॉक्युमेंट के ढ़ाँचे की दिखावट (Layout), उसकी पृष्ठभूमी (Background), टेक्स्ट का रंग एवं स्टाइल आदि को सजाने एवं नियंत्रित करने के लिए किया जाता है. इस भाषा को स्वतंत्र रुप से लिखा जाता है. इसके अपने Code-Words यानि स्टाइल रूल्स है, जो एक वेबपेज की अलग-अलग प्रकार से फॉर्मेटिंग करते है.


CSS के फायदें – Advantages of CSS in Hindi

CSS इस्तेमाल करने का सबसे बडा फायदा तो हैं आजादी – Freedom. आपको एक काम को बार-बार करने से छुटकारा मिल जाता हैं. इसके अलावा भी CSS इस्तेमाल करने के अनेक फायदे हैं, जिनके बारे में नीचे बताया जा रहा हैं.

Save Time

आप एक बार CSS Rules को लिखते हैं, और उन्हे कई बार Apply कर सकते हैं. आप एक Stylesheet को Multiple Webpages पर Apply कर सकते हैं. आपको प्रत्येक नय HTML Document के लिए CSS Rule लिखने की जरूरत नहीं हैं. इसलिए CSS Web Masters का कीमती समय बचाती हैं.

समय की बचत इसका सबसे बड़ा फायदा दिखाई पड़ता है. क्योंकि, आपका रिपिटशन में समय व्यर्थ नहीं हो रहा है. आप हर बार नए के लिए काम कर सकते है.

Increase Page Speed

एक HTML Document में दर्जनों Elements होते हैं. जिनके लिए हमें अलग-अलग Style Rules Set करने पडते हैं. और किसी-किसी में तो इनकी संख्या सैंकडो या हजारों में भी पहुँच जाती हैं.

इसलिए वेबपेज का साइज बढ जाता हैं. लेकिन, CSS की मदद से केवल एक स्टाइलशीट में ही सभी एलिमेंट्स के लिए Style Rules Set कर दिए जाते हैं. जिससे Extra HTML हट जाती हैं. और पेज का साइज कम हो जाता हैं. और इस कारण Page Fast Load होता हैं.

गूगल फास्ट लोड होने वाली वेबसाइट्स को पसंद करता है. इसलिए वेब मास्टर्स के लिए सीएसएस किसी वरदान से कम नहीं है.

Easy to Maintenance

आप पूरी वेबसाइट के लिए सिर्फ एक स्टाइलशीट में CSS Rules Set कर सकते हैं. इसलिए हमे एक फाईल को Manage करने में कोई परेशानी नही आती हैं.

जी हाँ! आप पूरी वेबसाइट के लिए सिर्फ एक ही सीएसएस फाइल में पूरी स्टाइल लिख सकते है. ऐसा करने पर सभी कोड एक जगह पर मौजूद होते है. प्रत्येक एलिमेंट्स के लिए अलग-अलग स्टाइल रूल लिखने की परेशानी से छुटकारा मिल जाता है.

यदि किसी एलिमेंट्स में कुछ बदलाव करना होता है तो उसे ढूँढ़ने के बजाए. स्टाइलशीट से उसे अपडेट करना आसान होता है. इसलिए सीएसएस की मरम्मत आसान और सुविधाजनक है.

Provide Responsive Design

आप HTML से वेबपेज को प्रत्येक डिवाइस के लिए ऑप्टीमाइज नहीं कर सकते हैं. लेकिन, CSS की Media Queries Rules से आप वेबपेज्स को हर डिवाइस और स्क्रीन साइज के हिसाब से Responsive बना सकते हैं.

रेस्पॉन्सिव साइट लेआउट गूगल के दौ सो से अधिक रैंकिंग फैक्टर्स में से एक है. इसलिए, यह खूबी भी वेब मास्टर्स को खूब पसंद आती है.

आप सिर्फ एक कोड के जरिए अपनी डेस्कटॉप साइट को स्मार्टफोन, टैबलेट तथा अन्य डिवाइस के लिए ऑप्टीमाइज कर लेते है. और मोबाइल वर्जन, डेस्कटॉप वर्जन के झंझट से मुक्त रहते है.


CSS का संक्षिप्त इतिहास – Brief History of CSS in Hindi

CSS को आप HTML की छोटी बहन मान सकते हैं. क्योंकि HTML के बाद ही CSS का भी जन्म होने लगा था. वैसे तो HTML और CSS के जन्म में कई सालों का अंतर हैं. लेकिन, उसी दशक में ही CSS का जन्म हो गया था.

CSS का जनक श्री Hakon Wium Lie हैं. इन्होने ही सबसे पहले 1994 में CSS Rules को बनाया था. और इसके बाद W3C – World Wide Web Consortium द्वारा CSS Level 1 को दिसबंर 1996 में प्रकाशित किया गया. यह CSS का पहला Version कहलाया.

CSS Version 1 से अब तक CSS के तीन और Versions को प्रकाशित किया जा चुका हैं. जो क्रमश: CSS Level 2, CSS Level 2.1 और CSS Level 3 हैं. CSS3 इसका नवीनतम (Latest Version) संस्करण हैं.


CSS कैसे सीखें – How to Learn CSS in Hindi?

अगर आपने HTML Training ली हुई है या लें रहे है. तब आपको CSS अलग से सीखने की कोई जरुरत नहीं रहती है. क्योंकि HTML के साथ-साथ सीएसएस भी सिखाया जाता है.

वेब डिजाइनिंग कोर्स खासकर इसी उद्देश्य के लिए तैयार किया गया है. जिसमें HTML, CSS के साथ जावा स्क्रिप्ट की ट्रैनिंग भी दी जाती है.

लेकिन, काम करने के दौरान चीजे अपडेट होती रहती है. और वेब पर तो चीजे सैकण्डों में पुरानी हो जाती है. इसलिए खुद को नई और एडवांस तकनिक से अपडेट रखने के लिए लगातार सीखना जरूरी होता है.

इसलिए ही हम यहाँ फ्री में सीएसएस सिखने के तरीके बता रहे है. यदि आप नीचे बताए गए तरिकों का उपयोग करेंगे तो आप जॉब करते हुए भी CSS Advance Training ले पाएंगे.

  1. ऑनलाइन सीखें
  2. ऑनलाइन कोर्स जॉइन करें
  3. किताबें खरिदें
  4. यूट्यूब से सीखें
  5. दूसरी वेबसाइट्स से सीखें

#1 ऑनलाइन सीखें

इंटरनेट पर आपके हर सवाल से संबंधित कुछ ना कुछ इंफो उपलब्ध है. यदि आप “how to learn css online in hindi” इस टर्म को गूगल करेंग़े. तो आपके सामने लाखों परिणाम आ जाएंगे.

लेकिन, वेब से फायदें मंद जानकारी ढूँढना सागर से मोती ढूँढ़ने के बराबर है.

इसलिए, हम आपको इस समय खपा देने वाले काम में नहीं झोकेंगे. क्योंकि आपके लिए इंटरनेट पर मौजूद बेस्ट वेबसाइट्स की लिस्ट नीचे दी जा रही है. जहाँ से आप Free CSS Training लें सकते है.

#2 ऑनलाइन कोर्स जॉइन करें

आजकल ऑनलाइन कोर्स का क्रेज बहुत बढ़ रहा है. और ई-लर्निंग सिखने के ढ़ंग को बदल रही है.

इसलिए, आप भी समय के साथ चलें और ऑनलाइन लर्निंग पोर्टल्स पर उपलब्ध मुफ्त तथा पैड कोर्सेस को जॉइन करके सीएसएस सीखना शुरू कर सकते है.

कुछ लोकप्रिय ऑनलाइन पोर्टल्स के नाम नीचे दिए जा रहे है.

  • Edx.org
  • Udacity
  • Udemy
  • Coursera
  • Khanacademy

#3 किताबें खरिदें

किताबें इंसान का सच्चा साथी होती है. जो उसका साथ हमेशा निभाती है. यदि आप देखकर सीखना नहीं चाहते है. और आपको पढ़ना पसंद है. तब आप CSS Books खरीद सकते है.

आप ऑनलाइन Best CSS Books ढूँढ़कर अपना ज्ञान बढ़ाने की शुरूआत कर सकते है. या फिर बाजार में जाकर किसी अच्छे से बुक स्टोर से सीएसएस की किताबें लें सकते है.

#4 यूट्यूब से सीखें

यूट्यूब एक पब्लिक स्कूल की तरह है. जहाँ पर गूगल अकाउंट रखने वाला हर इंसान टीचर बन सकता है.

आपको दर्जनों यूट्यूब चैनल मिल जाएंगे. जो मुफ्त सीएसएस सिखाते हैं. इन चैनल्स को सबस्क्राइब करके आप हर नए वीडियो की नोटिफिकेशन प्राप्त कर पाएंगे.

यदि, आपको वीडियो ढूँढ़ने में दिक्कत आती है तो आप वीडियो प्लेलिस्ट से CSS Tutorial Videos की सूची प्राप्त कर सकते है.

#5 दूसरी वेबसाइट्स से सीखें

यह तरिका केवल वेब डिजाइनिंग का कोर्स करने वाले स्टुडेंट्स तथा वेब डिजाइनर्स के लिए ही उपयोगी होगा. इसलिए, नए स्टुडेंट्स इस तरिके को ना अपनाए तो उनके लिए बेहतर रहेगा. बाकि, आप निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र है.

खैर, मुद्दे की बात पर आते है.

अब आप सोच रहे होंगे कि हम दूसरी साइट्स से कैसे सीख सकते है?

चलिए, बताते है.

आपने HTML सीखने के दौरान वेबपेज का सॉर्स-कोड देखने का तरीका जरूर सीखा होगा.

अब आपको कुछ समझ आ गया होगा.

आप दूसरी वेबसाइट्स के सोर्स-कोड देखकर खुद की नॉलेज में इजाफा कर सकते है. और जिस साइट में आपको कोई नया फीचर नजर आ रहा है उसे भी हाथो-हाथ सीखकर खुद को अप-टू-डेट रखने में कामयाब हो सकते है.

आपने क्या सीखा?

इस लेख में हमने आपको CSS क्या है? इस बारे में पूरी जानकारी दी है. आपने जाना कि सीएसएस क्या होती है, इसका उपयोग कैसे किया जाता है? साथ ही आपने जाना कि CSS और HTML में क्या अंतर है, और CSS कैसे सीखते है?

हमे उम्मीद है कि यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित होगा. किसी भी तरह के सवाल या सुझाव के लिए कमेंट करके अवगत कराएं. और अपने दोस्तों के साथ इस जानकारी को शेयर करना ना भूलें.

#BeDigital

— संबंधित ट्युटोरियल —

  1. CSS क्या है – CSS Introduction?
  2. CSS Syntax को समझिए
  3. CSS Selectors
  4. CSS Measurements Units
  5. CSS Style कैसे Add करें?
  6. CSS Color
  7. CSS Background
  8. CSS Text Property
  9. CSS Font
  10. CSS Image
  11. CSS Links
  12. CSS List Property
  13. CSS Table Property
  14. CSS से Comment कैसे लगाते है?
  15. CSS Box Model
  16. CSS Width Property
  17. CSS Height Property
  18. CSS Margin
  19. CSS Padding
  20. CSS Border
  21. CSS Overflow Property
  22. CSS Positioning
  23. CSS Display Property
  24. CSS Cursor
  25. CSS Visibility Property
  26. CSS Float Property
  27. CSS Outline
  28. CSS Z-Index
  29. CSS Box-Shadow
  30. CSS pseudo-classes
  31. CSS Pseudo Elements
  32. CSS border-image Property
  33. CSS @ Rules
  34. CSS @media Property
  35. CSS Filter
  36. CSS object-fit

#Beable

लेख आपको पसंद आया?
👍👎

By TP Staff

लेखक: TP Staff

TP Staff, TutorialPandit की कम्प्यूटर और टेक्नोलॉजी पेशेवरों की टीम है, जिसका नेतृत्व जी पी गौतम द्वारा किया जाता है. TutorialPandit के माध्यम से भारत देश में हर साल लाखों लोग फ्री डिजिटल शिक्षा ग्रहण कर रहे है.

18 replies on “CSS क्या है और CSS कैसे सीखे हिंदी में जानकारी”

क्या केवल css से without HTML एक वेबसाइट बनाई जा सकती हैं

विकास जी, हमने CSS को इस्तेमाल करने के लिए सभी Tutorials बनाए हुए है. आप एक-एक Tutorial को पढिए और उसका इस्तेमाल कीजिए. आप सीख जाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *